जागरण संवाददाता, जम्मू: सरकारी आनलाइन सेवाओं के नाम उपभोक्ताओं को चूना लगाने वाले साइबर कैफे संचालकों पर डीसी जम्मू अवनी लवासा ने नकेल कसते हुए सभी की फीस तय कर दी है। राजस्व विभाग से जुड़ी इन आनलाइन सेवाओं की रेट लिस्ट जारी करते हुए डीसी ने यह निर्देश दिए कि सभी साइबर कैफे मालिक रेट लिस्ट को उपभोक्ताओं की सुविधाओं के लिए सामने लगाएं।

अगर कोई कैफे मालिक निर्धारित फीस से अधिक की वसूली करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। डीसी जम्मू अवनी लवासा ने अपने आदेश में इस बात की जानकारी दी कि पिछले कुछ दिनों से उन्हें जिला जम्मू के विभिन्न इलाकों से इस संबंध में शिकायत मिल रही थी कि कुछ साइबर मालिक आनलाइन सेवाओं के नाम पर उनसे मुंह मांगे दाम वसूल रहे हैं।

32 आनलाइन सेवाओं की फीस निर्धारित

लगातार मिल रही इन शिकायतों पर पूर्ण विराम लगाने के इरादे से ही राजस्व विभाग से जुड़ी सभी आनलाइन सेवाओं के रेट निर्धारित कर दिए गए हैं।

आदेश के अनुसार सरकार की 32 आनलाइन सेवाओं जिनमें चरित्र प्रमाण पत्र, विवाह प्रमाण पत्र, वेतन प्रमाण पत्र, एससी-एसटी सर्टिफिकेट, लिगल हायर, ओबीसी-आरबीए-एएलसी सर्टिफिकेट, डिर्माटमेंट सर्टिफिकेट, पहाड़ी भाषी सर्टिफिकेट, बेरोजगार सर्टिफिकेट, डिक्री का नामांतरण, सक्षम प्राधिकारी के आदेश का नामांतरण, विनिमय का उत्परिवर्तन सहित करीब तीस ऑनलाइन सरकारी सेवाएं ऐसी हैं जिनका रेट पचास रुपये निर्धारित किया गया है।

शिकायत के लिए जारी किया नम्बर

केवल सरकारी आनलाइन सेवाओं जिनमें उपभोक्ताओं को तहसीलदार से मिलने वाले प्रापर्टी सर्टिफिकेट और ट्रांसफर आफ लैंड राइट्स की फीस 100 रुपये निर्धारित की गई है। डीसी जम्मू ने सभी साइबर कैफे मालिकों को यह स्पष्ट किया है कि निर्धारित फीस से अधिक वसूलने वाले को बख्शा नहीं जाएगा।

इसी के साथ उन्होंने उपभोक्ताओं से भी अपील की कि वे निर्धारित रेट से अधिक फीस वसूलने वाले साइबर कैफे मालिक के खिलाफ उसी समय शिकायत दर्ज करवाएं। उन्होंने कहा कि उपभोक्ता 0191-2571616 पर संपर्क कर शिकायत कर सकते हैं। शिकायत दर्ज होने के तुरंत बाद साइबर कैफे मालिक के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी।

Edited By: Sonu Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट