जम्मू, जागरण संवाददाता। पूरे देश को हिला देने वाले हैदराबाद कांड से सबक लेते हुए जम्मू पुलिस भी सतर्क हो गई है। ऐसी किसी भी घटना की पुर्नावृति को रोकने के लिए पुलिस ने अपनी तैयारी को पुख्ता करने की दिशा में पहला कदम बढ़ाते हुए महिलाओं के लिए हेल्प वैन सेवा शुरू की है। यह वैन रविवार रात साढ़े दस बजे से अपना काम शुरू करेगी और इसके बाद पुलिस का हिस्सा बन जाएगी।

जिला पुलिस लाइन में एसएसपी जम्मू तेजेंद्र सिंह ने बताया कि अगर कोई भी महिला रात के समय खुद को कहीं फंसा हुआ महसूस करती है तो हेल्पलाइन नंबर 100 और 1091 पर बेझिझक फोन कर सकती है। महिला जहां भी होगी, वहां पर दस मिनट के भीतर उनकी गाड़ी पहुंच जाएगी। वहां से महिला को सुरक्षित उसके घर तक पहुंचा दिया जाएगा। एसएसपी ने बताया कि यह सेवा फिलहाल जम्मू शहर में ही शुरू की गई है। इसका दायरा धीरे-धीरे बढ़ाया जाएगा। फिलहाल, एक ही गाड़ी इसके लिए तैनात की गई है, जिसमें महिला पुलिसकर्मी भी तैनात रहेंगी, जो महिलाओं को सुरक्षा का अहसास करवाएंगी। एसएसपी ने बताया कि अगर कोई महिला रात को अपनी गाड़ी में आ रही है और गाड़ी कहीं खराब हो जाती है तो उसकी मदद भी पुलिस करेगी।

पीसीआर में होगी कॉलः महिला जब हेल्पलाइन नंबर 100 या 1091 पर फोन करेगी तो वह कॉल पीसीआर में होगी। पीसीआर से महिला की लोकेशन के बारे में पुलिसकर्मियों को वायरलेस से सूचना दी जाएगी। पुलिसकर्मी सीधे महिला के पास पहुंच जाएगी। इसके साथ ही उस इलाके के संबंधित पुलिस स्टेशन को भी सूचित कर दिया जाएगा, ताकि पुलिस स्टेशन से भी मदद मौके पर तुरंत पहुंच सके।

जम्मू में क्राइम रेट में कमी आई : महिला को यह मदद फिलहाल रात साढ़े दस बजे से लेकर सुबह साढ़े पांच बजे तक मिलेगी। एसएसपी के अनुसार दिन के समय उनकी पुलिस वैसे ही सतर्क रहती है और हेल्प लाइन पर कॉल करने वाली महिलाओं को थाने से मदद मिल सकती है। एसएसपी ने दावा किया कि जम्मू में क्राइम रेट में कमी आई है। जम्मू शहर में विभिन्न मामलों में 319 पर्चे लगे थे, जिनमें से 159 का निपटारा भी किया जा चुका है।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस