श्रीनगर, राज्य ब्यूरो: राष्ट्रीय स्तर पर कारोबार, निवेश और रोजगार के अवसर जुटाने के मकसद से जम्मू कश्मीर सरकार ने पीएआरसी के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। समझौते का पहला चरण राजौरी, पुंछ और बनिहाल में पैदा होने वाले बाजरा व दलहन पर केंद्रित है। आने वाले दिनों में अन्य जिलों के कृषि और बागवानी उत्पादों को वैल्यू एडिशन में शामिल किया जाएगा। उनके लिए भी राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेत से बाजार तक का संपर्क तैयार किया जाएगा।

जम्मू कश्मीर सरकार और पीएआरसी (पालिसी एडवोकेसी रिसर्च सेंटर) के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर किए जाने के अवसर पर उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि हमारा प्रयास रहेगा कि बाम्बे स्टाक एक्सचेंज में सूचीबद्ध कंपनियों को चिह्नित कर उन्हेंं जम्मू-कमीर में निवेश के लिए प्रोत्साहित किया जाए। यह निवेश तक सीमित नहीं होगा, हम स्थानीय उद्यमियों की क्षमता विकास के लिए भी कपंनियों के साथ सहयोग व साझेदारी करेंगे। समझौते पर कृषि उत्पादन एवं किसान कल्याण विभाग के प्रधान सचिव नवीन कुमार चौधरी, जम्मू कश्मीर ट्रेड प्रोमोशन आर्गेनाइजेशन की प्रबंध निदेशक अंकिता कार और पीएआरसी निदेशक किरण शेलर ने हस्ताक्षर किए हैं।

जम्मू-कश्मीर के कृषि क्षेत्र ने आज एक नई शुरुआत की है। समझौते से कृषि व औद्योगिक क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव लाएगा। इससे उत्पादकता में वृद्धि और गुणवत्ता में भी सुधार होगा। पीएआरसी के साथ समझौते से कृषि विभाग को कृषि उत्पादों के लिए खेत से आम ग्राहक तक अथवा एंड-टू-एंड श्रृंखला मजबूत करने में मदद मिलगी। इससे किसानों को लाभ होगा। कृषि एवं बागवानी क्षेत्र में संरचनात्मक परिवर्तन आएगा। समझौते से राष्ट्रीय स्तर पर कारोबार, निवेश और रोजगार के अवसर जुटाने में जम्मू कश्मीर को पूरा अवसर मिलेगा।

निवेश मित्र अन्य राज्यों की निवेश संंबंधी सर्वश्रेष्ठ नीतियों और प्रकियाओं को लागू कर जम्मू कश्मीर को निवेशकों के लिए पहली पसंद बनाया जाएगा। उपराज्यपाल ने कहा कि जम्मू कश्मीर सरकार विकासोन्मुखी र्आिथक सुधारों के माध्यम से प्रदेश में निवेश के अनुकूल पारिस्थितिकीय तंत्र तैयार कर रही है। इसके लिए विभिन्न नए बाजार तलाशने और संभावित निवेशकों के साथ सहयोग और साझेदारी की जा रही है। स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर पैदा करने के साथ ही सभी हितधारकों को विकास के एक समान लक्ष्य के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

जम्मू कश्मीर के 200 युवाओं को प्रशिक्षण मिलेगा: बाम्बे स्टाक एक्सचेंज के प्रबंध निदेशक आशीष कुमार चौहान ने बताया कि जम्मू कश्मीर के करीब 200 युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए बैंकिंग, वित्तीय और बीमा क्षेत्र का प्रशिक्षण दिया गया। 

Edited By: Rahul Sharma