जम्मू, अवधेश चौहान। जम्मू-कश्मीर की बेटियों को सलाम। आतंकवाद की छवि झेलने के बावजूद यहां की बेटियां कला संस्कृति का क्षेत्र हो, प्रशासनिक हो या फिर खेलों में, इन्होंने सभी में अपने आपको साबित किया है। राज्य की होनहार बेटियां रोल मॉडल बनी हुई हैं।

बॉडी बिल्डिंग से बनीं रोल मॉडल

जम्मू संभाग की मोनिका गुप्ता बॉडी बिल्डिंग में नई पोस्टर गर्ल हैं। मोनिका ने जम्मू संभाग को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नाम दिलाया। युवा उनको रोल मॉडल समझते हैं। नार्थ इंडिया बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगिता में रजत जीता था। मोनिका गुप्ता 2017 में मिस जम्मू भी रह चुकी हैं। वल्र्ड चैंपियनशिप नॉर्थ में उनका पांचवां रैंक रहा था। बॉडी बिल्डिंग में परिवार का भी अहम प्रोत्साहन का योगदान रहा।

दीपशिखा ने जीता मिस इंडिया मल्टीनेशनल का खिताब

ग्लैमर जगत में भी जम्मू की कई बेटियों ने राज्य का नाम रोशन किया है। कुछ सप्ताह पहले ही जम्मू की दीपशिखा ने मिस इंडिया मल्टीनेशनल का खिताब जीता था। उनका कहना है कि इस तरह के खिताब जीतने से कई क्षेत्रों में जाने का मौका मिलता है। आत्मविश्वास भी पैदा होता है। पिछले साल ही जम्मू की ही सना दुआ मिस इंडिया प्रतियोगिता में दूसरे स्थान पर रही थीं। इससे पहले भी जम्मू की बेटियां इस क्षेत्र में अपना नाम कमा चुकी हैं।

बैडमिंटन की नई स्टार स्नोई

जम्मू की नौ साल की स्नोई गोस्वामी बैडमिंटन में राज्य की नई स्टार बनकर उभरी हैं। महज नौ साल की उम्र में ही अंडर-10, अंडर-13, अंडर-15 और अंडर-17 प्रतियोगिता का खिताब अपने नाम कर चुकी है। रोजाना आठ घंटे अभ्यास करती हैं। सपना भारत के लिए खेलने का है। ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व कर स्वर्ण पदक जीते।

फेंसिंग में कमाया नाम

कॉमनवेल्थ फेंसिंग में जम्मू की श्रेया गुप्ता ने इंग्लैंड में जुलाई में प्रतियोगिता में भाग लेकर उत्कृष्ट प्रदर्शन के दम पर कांस्य पदक जीता। कॉमनवेल्थ में पदक जीतने वाली राज्य की पहली खिलाड़ी बनी। श्रेया फरवरी में दुबई में एशियन कैडेट फेंसिंग प्रतियोगिता में भाग ले चुकी हैं। नेशनल फेंसिंग प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी भी बनीं।

ब्रांड एंबेसडर सोनाली

राज्य में स्वच्छता अभियान का ब्रांड एंबेसडर बनाया है, उनमें जम्मू की बेटी सोनाली डोगरा शामिल है। सोनाली ने इस पर थीम सांग भी गाया है। बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ अभियान में भी इसी साल सांबा जिले के थीम सांग गाया। सोनाली राज्य की जानी मानी गायिका हैं।

प्रशासन में भी धमक

राज्य की बेटियों ने भारतीय प्रशासनिक सेवाओं में लोहा मनवाया है। इस साल जम्मू की रहने वाली शीतल ने प्रशासनिक सेवाओं में जगह बनाई। इससे पहले डॉ. सहरिश असगर, रूबेदा सलाम, पारूल शर्मा भी आइएएस बन चुकी हैं। डॉ. सहरिश सूचना विभाग की निदेशक हैं।

पहली महिला पहलवान

नये कश्मीर की नाहिदा अपने दावपेंचों से अखाड़े में डंका बजा रही है। सोपोर की बेटी नाहिदा कश्मीर की पहली महिला पहलवान है। कभी भी चरमपंथियों के फरमानों के आगे झुकी नहीं। गत वर्ष शारदीय नवरात्र पर कटड़ा में मिशन दोस्ती महादंगल कुश्ती प्रतियोगिता में भाग लिया था।

 

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस