राज्य ब्यूरो, जम्मू: निवेशकों को आकर्षित करने के लिए जम्मू-कश्मीर में निवेश के लिए 14 क्षेत्रों की पहचान की गई है। इनमें पर्यटन, स्वास्थ्य और फार्मास्यूटिकल, इंफ्रास्ट्रक्चर और रियल एस्टेट, एनर्जी और पावर, फिल्म, आइटी, शिक्षा और कौशल विकास आदि शामिल हैं। यह जानकारी उप राज्यपाल जीसी मुर्मू को शनिवार को एक बैठक में दी गई। बैठक में मुर्मू ने प्रस्तावित जेएंडके ग्लोबल इनवेस्टर समिट की तैयारियों का जायजा लिया।

उप राज्यपाल ने सम्मेलन को सफल बनाने के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमेटी गठित करने के निर्देश दिए। इस कमेटी पर ही सम्मेलन आयोजित करने की जिम्मेदारियां होंगी। उप राज्यपाल ने निर्देश दिए कि वह सम्मेलन आयोजित करने से पहले बड़े निवेशकों के साथ बैठक करें और उन्हें जम्मू-कश्मीर के चुनिंदा क्षेत्रों की क्षमता के बारे में बताएं। उन्होंने जम्मू और कश्मीर दोनों ही जगहों के डिवीजनल कमिश्नरों से अपने यहां इंडस्ट्रीज एस्टेट की स्थापना के लिए भूमि का चयन करने को कहा ताकि सम्मेलन के बाद उद्योगों को स्थापित करने में कोई परेशानी न हो। उन्होंने इस सम्मेलन में भागीदारी निभाने वालों को विभिन्न एजेंसियों के साथ सहयोग करने को कहा, ताकि जम्मू कश्मीर के क्षमता वाले क्षेत्रों का सही प्रचार-प्रसार हो सके।

सम्मेलन के भागीदारों में राष्ट्रीय स्तर पर कन्फडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीज, नॉलेज सहयोगी अरनेस्ट एंड यंग, मीडिया पार्टनर प्राइस वाटरहाउस कूपर और इवेंट पार्टनर एक्सपो इवेंट्स ने सम्मेलन के दौरान होने वाली गतिविधियों की जानकारी दी। सम्मेलन का प्रचार करने को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रोड शो होंगे। सम्मेलन के लिए जेएंडके ट्रेड प्रमोशन आर्गेनाइजेशन ने आनलाइन लोगो प्रतियोगिता आयोजित की है।

बैठक में उप राज्यपाल के सलाहकार केके शर्मा, मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रहमण्यम, वित्त आयुक्त बिपुल पाठक, उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के प्रमुख सचिव नवीन चौधरी, योजना विभाग के प्रमुख सचिव रोहित कंसल डिवीजनल कमिश्नर जम्मू संजीव वर्मा भी मौजूद थे।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस