जागरण संवाददाता, जम्मू: बटन मशरूम में अच्छा पैसा बनाने के बाद अब किसान ढींगरी मशरूम की खेती की तैयारी में जुट गए हैं। यह भी कमाई का अच्छा जरिया है। अगले कुछ ही दिनों में ढींगरी मशरूम के बीज लगा दिए जाएंगे। इस देखते हुए कृषि विभाग के मशरूम विकास विंग ने बीज की बुकिंग आरंभ कर दी है।

अब तक 8 क्विंटल बीज की बुकिंग हो चुकी है। इससे मशरूम का 10 हजार लिफाफा लग सकता है। कृषि विभाग ने इस बार जम्मू संभाग में 50 हजार बैग ढींगरी मशरूम लगाने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए किसानों को प्रेरित किया जा रहा है व जगह-जगह प्रशिक्षण कार्यक्रम कराए जा रहे हैं।

ढींगरी मशरूम की खेती है आसान

ढींगरी मशरूम बटन मशरूम की तुलना में अपेक्षाकृत कम स्वादिष्ट होती है, लेकिन आने वाले दिनों में यही लोगों की जरूरत को पूरा करेगी। खास बात यह है कि इसकी खेती आसान है। कंपोस्ट की भी जरूरत नहीं पड़ती। महज भूसा को पानी में भिगोना है और कुछ सुखाकर रोग मुक्त कर लिफाफों में भरना है।

एक लिफाफे के लिए ढाई किलो भूसे की जरूरत रहती है। खास बात यह है कि लिफाफे के कोने में छेद किए जाते हैं, यहीं से मशरूम अंकुरित होकर बाहर आती है। एक समय आता है कि लिफाफा पूरी तरह से फट जाता है और भूसा ब्लाक की शक्ल में ले लेता है जिसकी साइड ढींगरी मशरूम से भरी रहती हैं।

घर पर ऐसे उगाएं मशरूम

यदि आप भी ढींगरी मशरूम लगाना चाहते हैं तो सबसे पहले बीज की बुकिंग कराई जाए, साथ ही भूसे का बंदोबस्त किया जाए। मशरूम लगाते समय 20-21 डिग्री सेल्सियस तापमान जरूरी है। करीब 35 दिन में ढींगरी मशरूम तैयार हो जाती है।

मशरूम विकास अधिकारी संजय धर ने कहा कि जम्मू क्षेत्र में मशरूम की खेती लगातार बढ़ रही है। अब तो मिल्की मशरूम भी आ गई है। ऐसे में युवा, किसान साल के अधिकांश समय तक मशरूम की खेती कर सकते हैं। मशरूम से अच्छी कमाई की जा सकती है।

Edited By: Sonu Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट