जम्मू, जागरण संवाददाता : जम्मू कश्मीर शिक्षा बोर्ड ने जम्मू संभाग में बारहवीं कक्षा की हुई प्राइवेट परीक्षा का परिणाम घोषित कर दिया है। इस परीक्षा में 14152 विद्यार्थी बैठे थे जिनमें 9210 विद्यार्थी पास हो सके। परीक्षा का कुल पास प्रतिशत 65.07 रहा जिनमें 789 बच्चों ने डिस्टिंक्शन, 3108 बच्चाें ने फर्स्ट डिवीजन, 4224 बच्चों ने सेकेंड डिवीजन और 1089 बच्चों ने थर्ड डिवीजन हासिल की। इस परीक्षा में पंद्रह बच्चे ऐसे भी रहे जिन्हें परीक्षा में अघोषित करार किया गया था।

जम्मू कश्मीर शिक्षा बोर्ड ने परिणाम को अपनी आधिकारिक बेवसाइट पर जारी कर दिया है जहां बच्चे अपने रोल नंबर भरकर परिणाम देख सकते हैं। बोर्ड की चेयरपर्सन वीना पंडिता का कहना है कि परीक्षा परिणाम घोषित करने में पूरी सावधानी बरती है। इसमें किसी किस्म की गलती कोई गुंजाइश नहीं है।

अगर फिर भी कोई बच्चा अगर परिणाम से संतुष्ट नहीं होता तो वह पंद्रह दिनों के भीतर रि-चेकिंग के लिए बोर्ड में आवेदन कर सकता है। इसके अलावा परीक्षा में असफल रहे विद्यार्थियों को भी दोबारा परीक्षा में बैठने के लिए पंद्रह दिनों के भीतर फार्म जमा करवाने का समय दिया है। वहीं इस परिणाम के घोषित होने के बाद वे बच्चे खुश हैं जिन्होंने आगे कालेजों में दाखिले लेने हैं।

इस समय जम्मू यूनिवर्सिटी के अधीन आने वाले कालेजों में दाखिले जारी हैं और पास हुए बच्चे उनके लिए आवेदन कर सकेंगे। वहीं चेयरपर्सन वीना पंडिता का कहना है कि कोरोना के बीच भी बोर्ड ने अपना काम जारी रखा है। परीक्षाओं का आयोजन समय पर हुआ है।

अब बोर्ड विंटर जोन व कश्मीर संभाग के दसवीं, ग्यारहवीं व बारहवीं कक्षा की परीक्षा की तैयारी कर रहा है। ये परीक्षा नवंबर महीने के पहले सप्ताह में शुरू हो जाएंगी। इसके लिए बोर्ड तैयार है। बच्चों को भी इस बारे सूचित कर दिया गया है ताकि वे अपनी तैयारी कर सकें। 

Edited By: Rahul Sharma