जम्मू: जम्मू कश्मीर और लद्दाख उच्च न्यायालय ने र¨वदर गुप्ता उर्फ गोले शाह पर जिला प्रशासन जम्मू की तरफ से लगाए गए पब्लिक सेफ्टी एक्ट (पीएसए) को हटा दिया है। जिला प्रशासन ने जम्मू पुलिस द्वारा पेश किए गए डोजर, जिसमें गोले शाह पर 16 से अधिक आपराधिक मामले विभिन्न पुलिस थानों में दर्ज हैं, के आधार पर पीएसए लगाने को कहा गया था। इसके आधार पर जिला प्रशासन जम्मू ने गोले शाह पर पीएसए से लगाकर उसे जेल भेज दिया था।

गोले शाह ने जिला आयुक्त जम्मू के उस पर लगाए गए पीएसए लगाए जाने के आदेश को उच्च न्यायालय में चुनौती दी थी। मामले की सुनवाई के दौरान जस्टिस रजनीश ओसवाल ने दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद पीएसए को हटा दिया।

कोर्ट ने फैसले में कहा कि गोले शाह पर जितने भी मामले दर्ज हैं, उनमें वह आरोपित है, जिसमें वह दोषी करार नहीं दिया गया है। ऐसे में यह कहना कि वह कानून व्यवस्था को बनाए रखने में खतरा साबित हो सकता है, सही नहीं होगा। उच्च न्यायालय ने फैसले में सर्वोच्च न्यायालय के कई फैसलों का भी हवाला दिया।

महिला नशा तस्कर को भेजा जेल

जम्मू: सतवारी पुलिस ने मादक पदार्थों की तस्करी के आरोप में हाल ही में पकड़ी गई एक महिला के खिलाफ वारंट पेश कर उसे जिला जेल अंबफला में भेज दिया। आरोपित महिला र¨वदर कौर उर्फ नीतू भाभी निवासी भौर कैंप के विरुद्ध मादक पदार्थों की तस्करी से जुड़े कई मामले दर्ज थे। पुलिस ने उन सभी मामलों के हवाले से कोर्ट में उसके विरुद्ध वारंट हासिल कर उसे अब जेल में भेज दिया है।

नाबालिग से दुष्कर्म का आरोपी गिरफ्तार

जम्मू: जानीपुर पुलिस ने कुछ दिन पूर्व नाबालिग लड़की से हुए दुष्कर्म के मामले में आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। वारदात के बाद आरोपित अमर मियां फरार हो गया था। वह मूलत: उत्तर प्रदेश के शाहाबाद इलाके में सदर मुहल्ले का रहने वाला है। उसके खिलाफ जानीपुर थाने में दुष्कर्म, अपहरण और पाक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था। पुलिस ने पीड़ित नाबालिग लड़की को उत्तर प्रदेश के सहारनपुर से बरामद किया और उसकी मेडिकल जांच करवाकर परिवार को सौंप दिया है।