कठुआ, जेएनएन। पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद भारत के खिलाफ आतंकी अभियान तेज कर दिया है। इस दिनों में छह से अधिक आतंकवादियों का पकड़ा जाना और पंजाब व राजस्थान सीमा पर ड्रोन की बरामदगी के बाद पंजाब सरकार ने हाई अलर्ट जारी कर रखा है। इसी के चलते पंजाब बार्डर पुलिस ने शुक्रवार से सीमा से सटे इलाकों में तलाशी अभियान भी चलाया हुआ है। शनिवार को जम्मू-कश्मीर पुलिस को भी यह सूचना मिली कि पंजाब सीमा से सटे बम्याल इलाके में कुछ संदिग्धों को जम्मू-कश्मीर में प्रवेश करते हुए देखा गया है। इस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए राज्य पुलिस, सीआरपीएफ, बीएसएफ और सीआईएसएफ के जवानों ने रावी से लेकर भागथली तक तलाशी अभियान चलाया।

कठुआ पुलिस के एएसपी रमनीश गुप्ता के नेतृत्व में सुबह छह बजे से साढ़े आठ बजे तक चले इस तलाशी अभियान के दौरान सुरक्षाबलों ने भागथली, जराई, नगरी इलाको में आपरेशन चलाया। दरअसल बम्याल इलाका पंजाब व जम्मू-कश्मीर सीमा से सटा हुआ है। इस गांव में बहने वाले उज्ज दरिया में तारबंदी न होने के कारण ये आतंकवादियों के लिए घुसपैठ के लिए आसान मार्ग माना जाता है। जिन आतंकवादियों ने पठानकोट एयरबेस पर हमला किया था, सूत्रों का कहना है कि उन आतंकवादियों ने भी इसी मार्ग से भारतीय सीमा में घुसपैठ की थी।

करीब ढाई घंटे तक चले इस तलाशी अभियान के दौरान सुरक्षाबलों को किसी संदिग्ध के यहां आने का सुराग तो नहीं मिला परंतु उन्होंने जम्मू-कश्मीर व पंजाब सीमा से सटे गांवों में रहने वाले लोगों को सचेत रहने के लिए कहा। एसएपी गुप्ता ने लोगों से कहा कि यदि वे सीमा पर किसी भी तरह की संदिग्ध गतिविधि देखते हैं, तुरंत नजदीक पुलिस चौकी में इसकी जानकारी दें। गुप्ता ने कहा कि पुलिस व अन्य सुरक्षाबल हर परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं। सीमा से सटे इलाकों में विशेष नाके स्थापित किए गए हैं। हर आने जाने वाले की गहनता से जांच की जा रही है।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस