जम्मू, रोहित जंडियाल। लापरवाही और आदेश की नाफरमानी ने जम्मू कश्मीर को कोरोना संक्रमण को लेकर खतरे में डाल दिया। नई दिल्ली में तब्लीगी जमात से लौटे बुजुर्ग जम्मू कश्मीर के कई क्षेत्रों में कोरोना वायरस फैलाने का कारण बन गए। वह लोग जमात में शामिल होने के बाद रोक के बावजूद प्रदेश के कई शहरों व क्षेत्रों में घूमते रहे और स्थिति यह है कि जम्मू कश्मीर में संकट एकाएक बढ़ गया। तेजी से उनके आसपास के दायरे में जांच की गई तो चार दिन में 35 नए संक्रमित सामने आ गए। इसके अलावा एक संक्रमित बुजुर्ग की मौत भी हो चुकी है। इसके अलावा हजारों ने विदेश यात्रा की जानकारी भी छिपाई।

इससे कश्मीर के श्रीनगर से लेकर, शोपियां, बारामुला और पुलवामा में संक्रमण फैला ही बांडीपोर संक्रमण का केंद्र बन गया। यहां आठ मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। दर्जनो लोग निगरानी में हैं। एक दर्जन के करीब मरीज इसी जिले से हैं। इसके अलावा जम्मू, राजौरी, ऊधमपुर जिलों तक भी संक्रमण पहुंच गया। यह लापरवाही कई सवाल पैदा कर रही है। हालांकि जम्मू कश्मीर के इन खुलासों की आहट दिल्ली पहुंची तो वहां भी तेजी से कार्रवाई हुई। राज्य में पहला मामला नौ मार्च को सामने आया था, जब ईरान से लौटी महिला में संक्रमण की आशंका थी। यह महिला पहले जीएमसी में भर्ती हुई और फिर वहां से फरार होकर घर चली गई थी। उसकी इस नासमझी ने उसी के एक अन्य परिजन को भी संक्रमित कर दिया। 13 मार्च को उसमें संक्रमण की पुष्टि हुई थी।

इसके बाद जम्मू में जो तीसरा मामला आया वह महिला भी सऊदी अरब से होकर लौटी थी। इसके दो दिन बाद इस संक्रमण ने कश्मीर में दस्तक दी और विदेश से लौटे एक व्यक्ति में पुष्टि हुई। इसके बाद तब्लीगी जमात में शामिल होकर आए लोगों के संपर्क से कश्मीर में वायरस तेजी से फैला। चार दिन में ही कश्मीर में 35 लोग इस वायरस से संक्रमित हो गए। इनमें से ज्यादातर दिल्ली और अंडमान में जमात में भाग लेकर आए लोग या उनके करीबी हैं। इनमें आठ महीने और सात साल का बच्चा भी शामिल है। दोनों अपने दादा से संक्रमित हुए हैं। राजौरी में मिला संक्रमित पूर्व चिकित्सक भी दिल्ली में जमात में शामिल होकर लौटा था। उसके अलावा उसका बेटा और एक करीबी को भी कोरोना संक्रमण ने चपेट में ले लिया।

अभी भी छिपे हैं कुछ चेहरे: स्वास्थ्य विभाग के एक उच्चाधिकारी ने बताया कि अभी भी कुछ चेहरे छिपे हैं और स्वयं सामने आने से हिचक रहे हैं। कई क्षेत्रों में घूमकर सैकड़ों लोगों से भी मिल चुके हैं। एक दिन पहले ही सरकार के प्रवक्ता ने विदेश दौरे की पहचान छिपाने वालों को क्रिमिनल बताया था। सरकार के एक अन्य अधिकारी ने बताया कि जमात में शामिल होकर आए लोग कई जिलों में गए। अब इन लोगों के संपर्क में आए लोगों को खोजा जा रहा है। पर यह आसान नहीं है।

कई जगह घूमा है यह मरीज: जम्मू में मिला एक कोरोना पाजिटिव पिछले कुछ दिनों में सहारनपुर, दिल्ली, इंदौर में होकर आया है। 19 मार्च को वह ट्रेन से जम्मू आया था। अब पुलिस उसके संपर्क में आए अन्य लोगों का भी पता लगा रही है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप