श्रीनगर, जेएनएन। Encounter Jammu and kashmir: उत्तरी कश्मीर के जिला बारामुला के सोपोर में अरमपोरा इलाके में बुधवार को सुरक्षाबलों ने जैश-ए-मोहम्मद (JeM) कमांडर सज्जाद अहमद डार को मार गिराया है। इस हमले में सुरक्षाबल का एक भी घायल हुआ है। आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने बताया कि मारे गए आतंकवादी के शव को सुरक्षाबलों ने अपने कब्जे में ले लिया है। मुठभेड़ में और आतंकवादियों के शामिल होने की आशंका के चलते सुरक्षाबलों ने आसपास के इलाकों में सर्च आपरेशन चलाया हुआ है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मारा गया जैश कमांडर सज्जाद अहमद डार निवासी सैदापोरा सोपोर वर्ष 2018 से सक्रिय था। उनके खिलाफ कई मामले भी दर्ज हैं। पुलिस सज्जाद की मौत को बड़ी सफलता मान रही है। वह स्थानीय युवाओं को संगठन में शामिल करने के लिए भी उकसाता था। अधिकारियों का कहना है कि जैश कमांडर के मारे जाने से जैश के स्थानीय नेटवर्क को काफी नुकसान पहुंचा है। वहीं मुठभेड़ स्थल में और आतंकियों की मौजूदगी की पुष्टि की जा रही है। सूत्रों का कहना है कि जब सुरक्षाबल के जवान मारे गए आतंकवादी के शव को मकान के मलवे से निकाल रहे थे, तभी किसी ने उन पर पिस्तौल से फायर किया था। ऐसे में आसपास आतंकवादी की मौजूदगी की आंशका के चलते तलाशी अभियान चलाया गया है।

आईजीपी कश्मीर ने कहा कि मुठभेड़ समाप्त हो चुकी है। मुठभेड़ स्थल से हथियार की बरामदी की गई है परंतु सर्च आपरेशन अभी भी जारी है।

जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले के सोपोर में गुलाबाद इलाके आज सुबह जब सुरक्षाबलों ने जैश ए मोहम्मद व लश्कर के आतंकी देखे जाने के बाद तलाशी अभियान शुरू करते हुए घर-घर तलाशी लेना शुरू किया तो इस दौरान आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी। अभियान में सेना की 22 आरआर, सीआरपीएफ की 179 बटालियन आैर पुलिस के एसऔजी के जवान शामिल थे। अपनी पोजीशन लेते हुए सुरक्षाबलों ने घर में छिपे आतंकवादियों पर गोलियां बरसाना शुरू कर दी।

पिछले 14 घंटों से जारी इस अभियान के दौरान अभी तक एक आतंकवादी को मार गिराया गया है। मारे गए आतंकवादी की पहचान नहीं हो पाइ है। अभी भी दोनों और से रूक-रूककर गोलीबारी जारी है। 

सूत्रों ने बताया कि गांव से आतंकियों के बाहर निकलने के सभी रास्ते बंद कर दिए गए हैं। आतंकवादियों का बचकर निकलना संभव नहीं है। यदि यह मुठभेड़ देर शाम तक चलती है, तो आतंकी अंधेरे का लाभ लेते हुए गांव से नहीं निकल सकें इसलिए विभिन्न जगहों पर सुरक्षाबलों ने फ्लड लाइट्स भी लगा रखी थी।

इससे पहले 5 अप्रैल को कुपवाड़ा में सुरक्षाबलों और घुसपैठियों के बीच जबरदस्त मुठभेड़ हुई थी। इस दौरान सुरक्षाबलों ने पांच घुसपैठियों को मार गिराया गया था। हालांकि, हमारे पांच जवान शहीद भी हो गए थे।

उड़ी में जवाबी कार्रवाई में पाक सेना का बंकर तबाह

पाकिस्तानी सेना और रेंजरों ने सोमवार की रात से मंगलवार तक अंतरराष्ट्रीय सीमा से लेकर नियंत्रण रेखा तक संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। भारतीय सैनिकों की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तानी सेना को भारी नुकसान पहुंचा है। उड़ी सेक्टर में मंगलवार की देर रात तक दोनों तरफ से रुक-रुककर गोलाबारी जारी थी। गुलाम कश्मीर में एलओसी पर हाजीपीर दर्रे के ऊपरी छोर लोन हट में चौकी पर बैठे पाकिस्तानी सैनिकों ने मंगलवार को उड़ी सेक्टर में भारतीय चौकी टिक्का और उसके साथ सटे गांवों पर शाम करीब सात बजे गोलाबारी शुरू की। सैन्य सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी सेना की लोन हट चौकी के पास उसका बंकर जवाबी कार्रवाई में क्षतिग्रस्त हुआ है। इसमें पाकिस्तानी सेना को जानी नुकसान भी हुआ होगा। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस