जम्मू, राज्य ब्यूरो। जम्मू विश्वविद्यालय के गोल्डन जुबली और महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य पर जम्मू विश्वविद्यालय में सात नवंबर से अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस का आयोजन किया जा रहा है। 21वीं सदी में गांधी की विचारधारा की प्रासंगिकता विषय पर आयोजित की जा रही इस कांफ्रेंस का उद्घाटन राज्य सभा के डिप्टी चेयरमैन डॉ हरिवंश नारायण सिंह करेंगे।

विश्वविद्यालय के जनरल जोरावर सिंह आडिटोरियम में कांफ्रेंस के उद्घाटन समारोह में पीए नजरेथ मुख्य वक्ता होंगे। वहीं स्वागत भाषण जम्मू विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर प्रो. मनोज धर देंगे। अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस के बारे में केंद्रीय विश्वविद्यालय के वीसी प्रो. अशोक ऐमा कांफ्रेंस के बारे में जानकारी देंगे। कांफ्रेंस में देश के विभिन्न भागों से शिक्षाविद् और स्कालर भाग लेंगे। कांफ्रेंस में भाग लेने वाले प्रमुख लोगों में एनसीइआरटी के पूर्व डायरेक्टर जेएस राजपूत, डॉ सविता सिंह, जैन विश्व भारती के पूर्व वीसी रामजी सिंह, इलाहबाद यूनिवर्सिटी के वीसी प्रो. रतन लाल हंगलू, केंद्रीय विश्वविद्यालय हरियाणा की डॉ सारिका शर्मा शामिल हैं।

समापन समारोह आठ नवंबर को ब्रिगेडियर राजेंद्र सिंह आडिटोरियम में होगा जिसमें भारत के राजदूत पीए नजरेथ मुख्यातिथि होंगे। कांफ्रेंस का आयोजन जम्मू विश्वविद्यालय, केंद्रीय विश्वविद्यालय जम्मू और सर्वोदय इंटरनेशनल ट्रस्ट की तरफ से संयुक्त रूप से किया जा रहा है। कांफ्रेंस में वक्ता महात्मा गांधी की विचारधारा, मौजूदा दौर में महात्मा गांधी के संदेश की प्रासंगिकता, देश के स्वतंत्रता संग्राम में उनकी भूमिका समेत अन्य जुड़े पहलुओं पर विचार व्यक्त करेंगे।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस