श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। शरारती तत्वों ने ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में बुधवार को निकाय चुनाव में भाग ले रहे एक प्रत्याशी के मकान पर पेट्रोल बम से हमला किया, लेकिन इसमें कोई नुकसान नहीं हुआ। बताया जा रहा है कि प्रत्याशी भाजपा का था।

सूत्रों ने बताया कि यह हमला रात करीब साढ़े दस बजे गोजवारा में हुआ। पेट्रोल बम जोरदार धमाके के साथ मकान के गेट पर टकराया। इससे गेट को आग लग गई। पेट्रोल बम फेंकने के बाद शरारती तत्व अंधेरे में भाग निकले।

पुलिसकर्मियों व दमकल कर्मियों ने गेट पर लगी आग पर काबू पाया। पुलिस ने शरारती तत्वों को पकड़ने के लिए आसपास के इलाके की घेराबंदी करते हुए तलाशी अभियान चलाया है। यहां यह बताना असंगत नहीं होगा कि बुधवार सुबह ही डाउन-टाउन में प्रत्याशियों को चुनाव प्रक्रिया से दूर रहने के हिज्ब के धमकी भरे पोस्टर मिले थे।

एनआइए ने सलाहुदीन के बेटे की घर की तलाशी ली

जानकारी हो कि उधर, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) के एक दल ने बुधवार को आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के सुप्रीम कमांडर मोहम्मद यूसुफ शाह उर्फ सलाहुदीन के पुत्र शकील अहमद के घर की तलाशी ली। शकील एक माह से टेरर फं¨डग मामले में तिहाड़ जेल में बंद है।

जबकि सलाहुदीन 26 साल से गुलाम कश्मीर में रहकर आतंकी गतिविधियों का संचालन कर रहा है।बताया जाता है कि एनआइए का एक जांच दल पुलिस के एक दस्ते के साथ सुबह श्रीनगर के रामबाग इलाके में स्थित शकील अहमद के घर पहुंचा। शकील के परिजनों ने बताया कि सुबह साढ़े आठ बजे एनआइए के टीम उनके घर आई। एनआइए ने शकील के कमरे के अलावा घर के विभिन्न हिस्सों की जांच की।

घर में रखे कंप्यूटर और लैपटॉप को भी खंगाला और परिवार के सदस्यों से उनकी आíथक स्थिति से लेकर अलगाववादी गतिविधियों के संदर्भ में बातचीत की, लेकिन किसी को हिरासत में नहीं लिया गया।

पुलिस अधिकारियों से जब संपर्क किया गया तो उन्होंने आतंकी सरगना के पुत्र के मकान से किसी तरह की बरामदगी से इन्कार किया। गौरतलब है कि गत मंगलवार को एनआइए की टीम ने श्रीनगर के नौहट्टा स्थित एक व्यापारी एजाज अहमद के ठिकानों की तलाशी ली थी।

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस