जम्मू, जागरण संवाददाता: जम्मू में गेंहूं की फसल पक आई है और किसान फसल की कटाई के लिए तैयार है। मगर कृषि मजदूरों की कमी किसानों की परेशानियां बढ़ा रही है। जिला जम्मू, सांबा व कठुआ में गेहूं की फसल पक की पीली हो आई है। यही समय है कटाई शुरू करने का, लेकिन किसानों को कृषि मजदूर नही मिल रहे। ऐसे में अब किसान जल्दी से जल्दी पंजाब से कंबाइन मशीनों के आने का इंतजार कर रहे हैं।

किसानों का कहना है कि कोरोना के कारण इस भी कृषि मजदूर यहां आने से परहेज रख रहे हैं। किसानों को पिछले साल का अनुभव है, जब कृषि मजदूर नही आ पाए थे।

इस बार भी कोरोना के बढ़ते मामले और बाहरी राज्यों से यहां आने में लोगों को रही अड़चनों से किसान आने वाले दिनों में बनने वाली स्थिति से अवगत हैं। किसानों ने कहा कि इस बार भी काफी कम संख्या में ही कृषि मजदूर आ सकेंगे। ऐसे में हमें फसल कटाई के दूसरे विकल्प के बारे में सोचना होगा।

किसान सहदेव सिंह का कहना है कि गेहूं की फसल तकरीबन पक चुकी है और अब कटाई की जा सकती है। ऐसे में लंबे समय तक गेहूं को खेतों में रखना खतरे से खाली नही होगा। इसकी तुरंत कटाई कर दी जानी चाहिए। कृषि मजदूर नही मिल रहे। ऐेसे में अधिकांश किसान कंबाइन मशीनों के आने का इंतजार है। मशीनें आएंगी तो तुरंत फसल का काम निपटा लिया जाएगा। लेकिन मौसम के मिजाज भी किसानों को डरा रहा है।

किसान कुलभूषण खजुरिया ने कहा कि कृषि विभाग जल्दी से जल्दी कंबाइन मशीनों को मंगवाने की दिशा में काम करे। यह इसलिए कि बिना देरी के फसल समेटी जा सके। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप