जम्मू, जागरण संवाददाता: जम्मू-कश्मीर शिक्षा बोर्ड की बारहवीं कक्षा के आज हुए अंग्रेजी विषय के पेपर में 44 हजार के करीब विद्यार्थी बैठे। काेरोना के बढ़ते मामलों के बीच प्रशासन ने स्कूलों को तो वैसे 18 अप्रैल तक बंद रखने के निर्देश जारी किए हैं लेकिन परीक्षाओं को सुचारू ही रखा है।

सोमवार को बारहवीं कक्षा का दूसरा पेपर था जो सभी विद्यार्थियों के लिए अनिवार्य था। कोरोना को देेखते हुए स्कूलों में विद्यार्थियों को कड़ी जांच के बाद अंदर भेजा गया। प्रवेश से पहले बच्चों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई। तापमान की जांच के बाद विद्यार्थियों को अंदर भेजा गया। परीक्षा केंद्रों के बीच भी शारीरिक दूरी का पालन सख्ती से करवाया गया। वहां बच्चों को कतारों में परीक्षा केंद्र के अंदर प्रवेश करवाया गया। परीक्षा केंद्र के भीतर किसी भी विद्यार्थी को मुंह से मास्क हटाने की अनुमति नहीं दी गई।

इस बार परीक्षा केंद्रों में क्षमता से आधे बच्चे ही बिठाए जा रहे हैं क्योंकि काेरोना को देखते हुए परीक्षाओं केंद्रो के भीतर भी बच्चोें को एक डेस्क छोड़ कर बिठाया जा रहा है। उधर परीक्षा केंद्रों में तैनात स्टाफ को भी कोरोना जांच के बाद ही नियुक्त किया गया है। मंगलवार को जम्मू कश्मीर शिक्षा बोर्ड के समर जोन स्कूलों के दसवीं कक्षा की परीक्षा भी शुरू होने जा रही है।

मंगलवार को दसवीं कक्षा का आप्शनल विषय का पेपर है जिसमें कम ही विद्यार्थियों के शामिल होने की संभावना है। परीक्षाओं के आयोजन से पहले स्कूलों को सैनिटाइज भी करवाया जाता है। इसके बाद ही परीक्षा केंद्र को बच्चों के लिए खोला जा रहा है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप