जम्मू, जागरण संवाददाता : जम्मू जिला प्रदेश का हॉटस्पाट बन चुका है। जम्मू जिले में कोरोना वायरस के 4289 सक्रिय मामले हाे चुके है और करीब 50 माइक्रो कंटेनमेंट जोन बन चुके हैं। जिले में संक्रमण दस बढ़कर दस फीसद तक पहुंच चुकी है और गत दिवस जिले में रिकार्ड 711 नए मामले सामने आए।

कोरोना महामारी के लगातार बढ़ते प्रकाेप के बीच एक राहत की बात यह है कि अभी तक इस महामारी ने जम्मू के भीड़भाड़ वाले पुराने शहर में अपने पैर नहीं पसारे हैं। जिले में लगभग हर क्षेत्र में कोरोना के मामले बढ़ने पर माइक्रो कंटेनमेंट जोन बने हैं लेकिन पुराना शहर ऐसा इलाका है जहां अभी तक कोई माइक्रो कंटेनमेंट जोन नहीं बना है। जिले में इस समय कोरोना के सबसे अधिक मामले जम्मू पश्चिम व जम्मू साऊथ में आ रहे हैं और जिले के सबसे अधिक माइक्रो कंटेनमेंट जोन भी इन्हीं क्षेत्रों में बने हैं।

जिले में पुराना शहर ऐसा इलाका है जहां के बाजारों में सबसे अधिक भीड़ नजर देखी जा सकती है। सकरी गलियां और छोटे-छोटे मुहल्ले होने के कारण इन क्षेत्रों में महामारी फैलने का सबसे अधिक खतरा है। पुराने शहर के रघुनाथ बाजार, भारत माता चौक, शालामार, ओल्ड हास्पिटल रोड, पुरानी मंडी, राज तिलक रोड, लिंक रोड, पक्का डंगा, मोती बाजार व परेड, ऐसे इलाके है जहां रोजाना हजारों की संख्या में लोग खरीदारी के लिए पहुंच रहे हैं। बाजारों में रोजाना भीड़ नजर आ रही है।

इन बाजारों के साथ लगते मुहल्लों में सकरी गलियां और एक-दूसरे से जुड़े घर लगातार चिंता का कारण बने हुए हैं लेकिन अभी तक ये क्षेत्र किसी हद तक महामारी के प्रकोप से बचे हैं। जिला प्रशासन की ओर से इस समय रोजाना सात से साढ़े सात हजार के करीब कोविड-19 टेस्ट किए जा रहे हैं। इनमें से सबसे ज्यादा टेस्ट भी पुराने शहर में ही हो रहे हैं। बाजारों में विशेष टीमें तैनात है जो रोजाना सैकड़ों टेस्ट कर रहे हैं। इसके बावजूद शहर में अभी तक खतरा टला हुआ है जो प्रशासन के लिए भी राहत की बात है। 

Edited By: Rahul Sharma