संवाद सहयोगी, किश्तवाड़। स्कूल खोलकर बच्चों को जिहाद का पाठ पढ़ाया जा रहा है। किश्तवाड़ में पुलिस ने मासूमों को आतंकवाद की राह पर धकेलने वाले एक हुर्रियत नेता को गिरफ्तार किया है। आरोपित हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी का दायां हाथ रहा है। पुलिस ने उसे पांच दिन के रिमांड पर लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। आरोपित हुर्रियत नेता की पहचान नूर मोहम्मद हुसैन उर्फ फैयाज मलिक पुत्र अब्दुल रियाज निवासी पिक्सु ठाठरी डोडा के रूप में हुई है। वह डोडा में तहरीके हुर्रियत का नेता है।

एसएसपी राजेंद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि नूर हुसैन काफी समय तक गिलानी से जुड़ा था। वह कुछ महीने पहले असम के रहने वाले कमरुद्दीन जमाल और आतंकी ओसामा बिन जावेद को लेकर असम भी गया था। ओसामा बिन जावेद किश्तवाड़ के दच्चन क्षेत्र का है। बाद में उत्तर प्रदेश पुलिस ने कमरुद्दीन को गिरफ्तार कर लिया। नूर हुसैन स्कूल खोलकर बच्चों को पढ़ाई के बहाने आतंकी गतिविधियों में धकेलने का काम करता है। इसने बहुत सारे बच्चों को आतंकी गतिविधियों में शामिल करने के प्रयास किए।

कुछ आतंकी गतिविधियों में शामिल भी हुए। इसी बीच, जब नूर हुसैन को रिमांड के लिए अदालत में लाया जा रहा था तो उसके साथ सिर्फ एक एएसआइ और एक कांस्टेबल थे। नूर हुसैन को बिना हथकड़ी पहनाए खुले बाजार से अदालत की तरफ लाया गया। अदालत पहुंचने के बाद पुलिस कर्मियों ने नूर हुसैन को एक कमरे में बिठाया और कुछ मीडिया कर्मियों को बातचीत करने की इजाजत दी।

मीडिया कर्मियों ने जब उसका इंटरव्यू चैनल पर चलाया तो पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। एसएचओ ने आनन-फानन नूर हुसैन को हथकड़ी पहनाई और कहा कि जो पुलिसकर्मी इसे लेकर गए थे, उन पर कार्रवाई होगी। एसएसपी का कहना था कि मीडिया को इंटरव्यू देने के मामले में उन्हें कोई जानकारी नहीं है फिर भी इसकी तहकीकात करवाई जाएगी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप