जम्मू, राज्य ब्यूरो : जम्मू कश्मीर में विकास में पारदर्शिता लाने की मुहिम के तहत केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह दिल्ली से शनिवार को आनलाइन प्रदेश के बीस जिलाें के लिए जिला गुड गर्वनेंस इंडेक्स जारी करेंगे। जम्मू कश्मीर जिला गुड गर्वनेंस इंडेक्स प्रभावी बनाने वाला देश का पहला प्रदेश होगा। जिला गुड गर्वनेंस को प्रभावी बनाने के लिए शनिवार सुबह जम्मू के कन्वेशन सेंटर में होने वाले सम्मेलन में प्रधानमंत्री कार्यालय के राज्यमंत्री डा जितेन्द्र सिंह के साथ उपराज्यपाल मनोज सिन्हा हिस्सा लेंगे।

इस एक दिवसीय सम्मेलन को कार्यशाला को जम्मू कश्मीर इंस्टीट्यूट आफ मैनेजमेंट पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन, सेंटर फार गुड गर्वनेंस हैदराबाद के सहयोग से कर रहा है। इस दौरान प्रदेश के चुने हुए 12 जिलों के डिप्टी कमिश्नर विभिन्न क्षेत्रों में विकास की उपलब्धियों का लेखा जोखा पेश करेंगे। जिला गुड गवर्नेंस इंडेक्स के सम्मेलन में जम्मू तैनात प्रशासनिक सचिवों के साथ जम्मू के डिवाजनल कमिश्नर, जम्मू, सांबा, कठुआ, रियासी जिलों के डिप्टी कमिश्नर, अडिशनल डिप्टी कमिश्नर व अतिरिक्त सचिव स्तर व इससे उपर के रैंक के अधिकारी शामिल होंगे। इसके साथ चीफ प्लानिंग अधिकारियों व जम्मू में विभागों के विभागाध्यक्षों व ज्वायंट डायरेक्टरों को भी सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए कहा गया है।

कश्मीर के डिविजनल कमिश्नर, श्रीनगर में तैनात प्रशासनिक सचिवों के साथ जम्मू के दूरदराज जिलों व कश्मीर के विभिन्न जिलों के डिप्टी कमिश्नर व अन्य वरिष्ठ अधिकारी विडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए इस सम्मेलन में हिस्सा लेंगे।पूरा दिन चलने वाले इस सम्मेलन के दौरान जिला गुड गर्वनेंस, आगे की राह मुद्दे पर पैनल डिस्कसन होगी। अधिकारियों को बताया जाएगा कि भविष्य में विकास के क्षेत्र में जिलों के प्रदर्शन का आंकलन किस तरह से किया जाएगा। इस प्रदर्शन का आंकलन करने के क्या मानक होंगे। इन मानकों पर खरा उतरने वाले जिलों को किस तरह से बढ़ावा मिलेगा। मानकों पर खरा न उतरने वाले जिलों के अधिकारी जवाबदेह होंगे। सुबह साढ़े नौ बजे शुरू होने वाले इस सम्मेलन के दौरान कोरोना की रोकथाम संबंधी हिदायतें को सख्ती से पालन करवाया जाएगा। सम्मेलन के आयोजन संबंधी जम्मू कश्मीर सरकार का आदेश सामान्य प्रशासनिक विभाग के प्रमुख सचिव मनोज कुमार द्विवेदी की ओर से जारी किया गया।

जम्मू कश्मीर से शुरू होगी जिला विकास में पारदर्शिता लाने की शुरूआत - जम्मू-कश्मीर जल्द देश का ऐसा पहला प्रदेश होगा जहां जिलों में विकास का आंकलन जिला गुड गवर्नेंस इंडेक्स जम्मू-कश्मीर जल्द देश का ऐसा पहला प्रदेश होगा जहां जिलों में विकास का आंकलन जिला गुड गवर्नेंस इंडेक्स से किया जाएगा। यह व्यवस्था सेंटर फार गुड गर्वनेंस हैदराबाद ने प्रशासनिक सुधार, जन शिकायत विभाग के सहयोग से बनाई है। प्रधानमंत्री कार्यालय के राज्यमंत्री डा जितेन्द्र सिंह के पास प्रशासनिक सुधार, जन शिकायत विभाग का स्वतंत्र प्रभार है। जिला गुड गर्वनेंस इंडेक्स के 58 मानक तय किए हैं।

विकास के लक्ष्य हासिल करने में जिलों के प्रदर्शन के लिए इसके लिए कृषि, उद्योग, मानव संशाधन, जलापूर्ति, बुनियादी ढांचा, आर्थिक सुशासन, जन कल्याण, जनसुरक्षा, न्याय, जनकेंद्रित शासन जैसे दस सेक्टरों को आंकलन किया जाएगा। इसके आधार पर जिलों का सुशासन के स्तर पर रैंक तय किए जाएंगे। यह व्यवस्था बनाने के लिए चली बैठकें में पहले जिला गुड गवर्नेंस इंडेक्स के लिए 135 मानक तय किए गए थे। बाद में विचार-विमर्श करने के बाद इनमें से 58 मानकों को फाइनल किया गया। पारदर्शिता लाने की इसी मुहिम के तहत जिला गुड गवर्नेंस इंडेक्स में उपर रहने वालों जिलों के प्रशासन को प्रोत्साहित किया जाएगा।

Edited By: Rahul Sharma