जागरण संवाददाता, जम्मू : सड़क पर खून से लथपथ पड़े 4 गंभीर रूप से घायल युवकों को समय रहते जम्मू राजकीय मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचा कर सीआरपीएफ के जवान फरिश्ता बन गए। दरअसल सीआरपीएफ की छठी बटालियन के फारूक मोहम्मद एबुंलेंस के साथ माता वैष्णो देवी के आधार शिविर कटड़ा जा रहे थे। जब उनकी एबुंलेंस जानीपुर मैन स्टाप पर पहुंची तो सड़क पर लोगों की भारी भीड़ लगी हुई थी। चारों के मुंह और सिर से खून बह रहा था। भीड़ में से किसी भी व्यक्ति और वहां से गुजरने वाले वाहन चालकों ने घायलों की सुध तक नहीं ली। फारूक मोहम्मद सीआरपीएफ की छठी बटालियन कटड़ा में एंबुलेंस के इंचार्ज हैं। फारूक मोहम्मद बिना पल गंवाए एंबुलेंस से नीचे उतरे और अपने ड्राइवर की मदद से चारों घायलों को बारी-बारी एंबुलेंस में लिटाया। इतना ही नहीं एंबुलेंस में उन्होंने घायलों को प्राथमिक उपचार भी किया। घायलों का खून रोकने के लिए उन्होंने मरहम-पट्टी कर दी ताकि ज्यादा खून न बहे। सभी घायलों को उन्होंने जीएमसी अस्पताल पहुंचाया। जानीपुर पुलिस के अनुसार दुर्घटना दो मोटरसाइकिलों के आमने सामने से टकराने के कारण हुई। घायलों की अभी पहचान नहीं हो पाई है। इलाज चल रहा है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप