कटड़ा, राकेश शर्मा। Snowfall at Mata Vaishno Devi: मां वैष्णो देवी का भव्य मंदिर बर्फ की सफेद चादर में लिपटा नजर आ रहा है। मां वैष्णो देवी भवन, त्रिकुटा पर्वत और भैरव घाटी में जबरदस्त हिमपात हो रहा है। इससे ठंड का प्रकोप भी बढ़ गया है परंतु देश भर से यहां पहुंच रहे मां के भक्तों की आस्था के आगे मौसम की यह कठोरता बेअसर साबित हो रही है। मां वैष्णो के जयकारे लगाते हुए ये श्रद्धालु बरसाती-छाते लिए निरंतर मां के भवन की ओर बढ़ रहे हैं। हालांकि श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए यात्रा मार्ग पर हर संभव सुविधा कर रखी है।

लगातार हो रहे हिमपात के बीच मां वैष्णो देवी का अलौकिक भवन मानो स्वर्ग का एहसास करवा रहा है। मां वैष्णो देवी का भवन, प्रांगण चांदी से ढका दिख रहा है। उम्मीद है कि इस आलौकिक दृश्य को हर कोई मां का भक्त देखना चाहेगा। बर्फबारी के बाद जल्द ही मंदी के बादल भी छट जाएंगे और आने वाले दिनों में मां वैष्णो देवी की यात्रा में भारी उछाल आएगा। त्रिकुटा पर्वत के साथ ही वैष्णो देवी भवन तथा आसपास के क्षेत्रों में लगातार हो रहे हिमपात को लेकर श्राइन बोर्ड प्रशासन द्वारा जहां एक और भैरव घाटी मार्ग के साथ ही बैटरी कार मार्ग को श्रद्धालुओं की आवाजाही के लिए बंद कर दिया है। वही, वैष्णो देवी भवन तथा भैरव घाटी के मध्य चलने वाली पैसेंजर केबल कार भी फिलहाल बंद रखी गई है। वर्तमान में केवल प्राचीन मार्ग से ही श्रद्धालु वैष्णो देवी भवन की ओर प्रस्थान कर रहे हैं। वहीं, आधार शिविर कटड़ा में भी लगातार बारिश जारी है।

वैष्णो देवी भवन तथा त्रिकुटा पर्वत पर लगातार हिमपात जारी

मां वैष्णो देवी की ऊंची चोटियों के साथ ही सूरजकुंड, सुखाल घाटी, प्राणकोट आदि क्षेत्रों में अब तक करीब 3 फुट हिमपात हो चुका है। वहीं भैरव घाटी में करीब 2 फुट, वैष्णो देवी भवन पर करीब एक से डेढ़ फीट और सांझी छत एरिया में भी करीब एक फुट हिमपात दर्ज हो चुका है। लगातार बर्फबारी जारी है। अगर मौसम का मिजाज इसी तरह बना रहा तो संभवता मां वैष्णो देवी के लंबी केरी क्षेत्र के साथ ही आदकुंवारी तक हिमपात की संभावना बनी हुई है। वहीं आधार शिविर कटरा व आसपास के क्षेत्रों में लगातार बारिश जारी है।

हेलीकॉप्टर सेवा, बैटरी कार सेवाए पैसेंजर केबल कार सेवा बंद

वैष्णो देवी यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं को मिलने वाली तीन महत्वपूर्ण सेवाएं बिगड़े मौसम के कारण फिलहाल बंद कर दी गई है। इनमें आधार शिविर कटड़ा से चलने वाली हेलीकॉप्टर सेवा, भवन मार्ग पर चलने वाली बैटरी कार सेवा और वैष्णो देवी भवन तथा भैरव घाटी के मध्य चलने वाली पैसेंजर केबल कार सेसेवा शामिल है। हालांकि इन असुविधाओं को नजरंदाज कर श्रद्धालु केवल प्राचीन मार्ग का इस्तेमाल कर घोड़ा, पिट्ठू अथवा पालकी आदि कर परिजनों के साथ निरंतर भवन की ओर प्रस्थान कर रहे हैं। मां वैष्णो देवी के बैटरी कार मार्ग पर पंछी क्षेत्र में बिगड़े मौसम तथा लगातार हो रही बारिश के कारण पहाड़ी से पत्थर गिर रहे हैं। इसी वजह से यह मार्ग बंद किया गया है। इसके अलावा सांझीछत हेलिपैड एरिया में बर्फबारी भी हो रही है।

खराब मौसम के कारण श्रद्धालुओं को हो रही परेशानी

त्रिकुटा पर्वत पर लगातार हो रही बर्फबारी व बारिश के चलते श्रद्धालुओं को अपनी वैष्णो देवी यात्रा के दौरान परेशानियां भी झेलनी पड़ रही हैं क्योंकि हिमपात के कारण मार्ग पर फिसलन बढ़ गई है जबकि बारिश व बर्फीली हवाओं के कारण ठंप का प्रकोप भी बढ़ गया है। गत वीरवार यानी 12 दिसंबर को करीब 9000 श्रद्धालुओं ने मां वैष्णो देवी के चरणों में हाजिरी लगाई थी। आज शुक्रवार को दोपहर तक करीब 6000 श्रद्धालु अपना पंजीकरण करवा भवन की ओर प्रस्थान कर चुके थे।

आपदा प्रबंधन दल, श्राइन बोर्ड के कर्मचारी तैनात

खराब मौसम तथा लगातार हो रहे हिमपात बा बारिश को लेकर मां वैष्णो देवी के मार्ग पर आपदा प्रबंधन दल के साथ ही श्राइन बोर्ड प्रशासन के अधिकारी व कर्मचारी तैनात कर दिए गए हैं। ताकि श्रद्धालुओं को किसी भी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े। श्रद्धालुओं को भी लगातार जागरूक किया जा रहा है कि वे पूरी सावधानी के साथ यात्रा करें। किसी भी तरह की स्थिति तथा परेशानी को लेकर नजदीकी सूचना केंद्र से तुरंत संपर्क करें। फिलहाल वर्तमान में केवल मां वैष्णो देवी के प्राचीन मार्ग से वैष्णो देवी यात्रा सुचारू है। श्राइन बोर्ड प्रशासन वैष्णो देवी यात्रा पर कड़ी निगाह रखे हुए हैं।

 

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस