जम्मू, जागरणप संवाददाता। भारत सहित जम्मू-कश्मीर के कई क्षेत्रों में बुधवार तड़के हुई बारिश से लोगों को प्रचंड गर्मी से राहत मिली। छुट्टियां बिताने घाटी आए सैलानियों को भी ताजा हिमपात देखने का मौका मिला। पर्यटन स्थल गुलमर्ग के अलावा द्रास, कारगिल, जोजिला, झंस्कार और उत्तरी कश्मीर के गुरेज इलाके में जून महीने में बर्फबारी अपने आप में रिकार्ड माना जा रहा है। पर्यटन स्थलों पर भी लोग इस बर्फबारी का खूब आनंद ले रहे हैं। मौसम विभाग के अनुसार श्रीनगर में 39.2 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई, जिससे कई नदी-नाले उफान पर हैं।

उत्तरी कश्मीर के बांडीपोरा के पपचन इलाके में पुराने पुल व तटबंध बह गए हैं, जिससे रिहाशी इलाकों में भी बाढ़ का पानी घुस आया। वहीं गांदरबल जिले के रामबाड़ी गुंड में तेज आंधी की चपेट में आकर गुज्जर समुदाय के दो लोग घायल हो गए। जम्मू संभाग के राजौरी जिले में भी तेज हवाओं के कारण कुल्ला गिरने से गुज्जर समुदाय के तीन लोग घायल हो गए। जिला प्रशासन अपने तौर पर राहत कार्य में लगा हुआ है।

मौसम विभाग के अनुसार पहलगाम में 54 मिलीमीटर, गुलमर्ग में 50 मिलीमीटर, कुपवाड़ा में 40.2 मिलीमीटर, वेरीनाग में 32 मिलीमीटर और बारामूला में सबसे ज्यादा 61 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड हुई। जम्मू संभाग में बुधवार तड़के हुई बारिश प्रचंड गर्मी से राहत लेकर आई लेकिन जम्मू में कोई खास बारिश नहीं हुई। शहर में 4.3 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई। जबकि बनिहाल में 34.3, बटोत में 36.2, कटड़ा में 16.8 और भद्रवाह में 35.3 मिलीमीटर बारिश हुई।

विभाग का कहना है कि श्रीनगर में आने वाले चौबीस घंटों में फिर बारिश की संभावना है लेकिन जम्मू संभाग के कुछेक क्षेत्रों में ही बारिश होगी। जम्मू में उमस लोगों को परेशान करेगी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस