श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। दक्षिण कश्मीर के त्राल और साथ सटे क्षेत्रों में हिजबुल मुजाहिदीन की तरफ से विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ), पुलिसकर्मियों और निकाय व पंचायत चुनाव में भाग लेने वालों के लिए धमकी भरे पोस्टर जारी करने के आरोपित सरगना को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने उससे आतंकी साहित्य, आतंकी संगठनों के लैटरपैड व मुहरें, धमकी भरे पोस्टर और कुछ डायरियां भी जब्त की हैं। फिलहाल, उसके अन्य साथियों की धरपकड़ के लिए पुलिस ने विशेष दल गठित किया है।पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि एक माह से त्राल, अवंतीपोर, पांपोर व साथ सटे इलाकों में हिजबुल मुजाहिदीन द्वारा नियमित अंतराल पर पुलिस कर्मियों, एसपीओ व अन्य सुरक्षाकर्मियों को नौकरी छोड़ने, पंचायत व स्थानीय निकाय चुनाव के बहिष्कार के फरमान संबंधी पोस्टर जारी किए जा रहे हैं।

इन पोस्टरों को चस्पा करने वाले तत्वों को पकड़ने के लिए विशेष दल का गठन किया गया। आतंकियो के ओवरग्राउंड वर्करों की गतिविधियों की निगरानी के लिए मुखबिरों का जाल बिछाया गया। इस दौरान पुलिस ने कई करांजबल त्राल में शुक्रवार तड़के एक तलाशी अभियान चलाया गया। सेना, सीआरपीएफ और राज्य पुलिस विशेष अभियान दल (एसओजी) के संयुक्त कार्यदल ने करांजबल में सभी संदिग्ध आतंकी ठिकानों की तलाशी लेकर इरशाद अहमद मल्ला पुत्र अब्दुल खालिक मल्ला को पकड़ लिया।

आरोप है कि इरशाद ही आतंकियों की तरफ से पोस्टर जारी करने वाले गिरोह का सरगना है। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने उसके घर से आतंकी संगठन के पोस्टर, मुहरें, लैटरपैड, कंप्यूटर, लैपटॉप और ¨प्रटर व अन्य कुछ आपत्तिजनक सामान भी जब्त किया गया है।

प्रवक्ता ने बताया कि इरशाद आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन का ओवरग्राउंड वर्कर है। वह कई साल से त्राल और उसके साथ सटे इलाकों में आतंकियों के लिए सुरक्षित ठिकानों, पैसे व नए लड़कों की भर्ती का बंदोबस्त करता रहा है। आरोपित से पूछताछ जारी है। 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप