जागरण संवाददाता, जम्मू: जम्मू कश्मीर पुलिस की बार्डर बटालियन की भर्ती के लिए लिखित परीक्षा का आयोजन नहीं होने पर शारीरिक परीक्षा पास करने वाले अभ्यर्थियों ने वीरवार को प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कर रहे युवाओें का कहना था कि इस भर्ती के लिए शारीरिक परीक्षा का आयोजन हो चुका है। वे उस परीक्षा को पास कर चुके हैं, लेकिन दो वर्ष बाद भी सरकार उनकी लिखित परीक्षा नहीं करवा पाई है।

युवाओं को कहना था कि अब सरकार ने दोबारा युवाओं की इस बटालियन में भर्ती की अधिसूचना जारी कर दी है, जबकि जो पहले से ही भर्ती का इंतजार कर रहे हैं, उनकी लिखित परीक्षा ही नहीं ली जा रही है। लिखित परीक्षा करवाए जाने की मांग को लेकर युवाओं ने पहले प्रदर्शनी मैदान के बाहर प्रदर्शन किया और उसके बाद वे तवी पुल को बंद करने के लिए निकल पड़े। युवाओं को प्रदर्शनी मैदान से बाहर निकलते देख पुलिस ने उन्हें रोक लिया, जिसके बाद युवाओं की पुलिस के साथ हल्की धक्कामुक्की भी हुई।

युवाओं ने सरकार को चेतावनी दी कि जब तक उनको भर्ती नहीं किया जाता, तब तक उनका प्रदर्शन ऐसा ही जारी रहेगा। बेरोजगारी दूर करने में भाजपा सरकार नाकाम प्रदर्शन करने वाले युवाओं ने कहा कि जम्मू कश्मीर में बेरोजगारी दूर करने में पूरी तरह नाकाम साबित हुई है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2020 में उनकी शारीरिक परीक्षा ली गई थी। अब दो वर्ष से लिखित परीक्षा नहीं होने के कारण उनके कुछ साथियों को उम्र सीमा में दिक्कत आ सकती है। उनका आरोप था कि सरकार युवाओं को नौकरियां नहीं देना चाहती। यही कारण है कि उनकी लिखित परीक्षा को टाला जा रहा है।