श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) के नेता और पूर्व विधायक गुलाम मोहउद्दीन पर हमले में लिप्त शौकत अहमद डार समेत दक्षिण कश्मीर के चार नौजवान बीते आठ दिनों में हिजबुल मुजाहिदीन और लश्कर के आतंकी बन गए हैं। इन सभी ने सोशल मीडिया पर हथियारों संग अपनी तस्वीरें वायरल कर आतंकी बनने का एलान किया है।

एसएसपी पुलवामा मोहम्मद असलम चौधरी ने बताया कि मुरन का रहने वाला शौकत अहमद डार पुत्र नजीर अहमद नेकां नेता पर हमले के समय वारदातस्थल पर मौजूद था। वह हमले में लिप्त आतंकियों संग ही भागा था। हम उसे तलाश कर रहे हैं। उसका मोटरसाइकिल जब्त कर लिया गया है। वह इस समय कथित तौर पर हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकी बन चु़का है। सोशल मीडिया पर भी उसकी तस्वीर वायरल हुई है।

सूत्रों ने बताया कि शौकत को हिज्ब ने कोड नाम बादशाह खान दिया है और वह 17 जुलाई को आतंकी संगठन का हिस्सा बना है। शौकत जहां हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकी बना है,वहीं तीन अन्य युवक जो 11 जुलाई के बाद से आतंकी बने हैं,लश्कर में शामिल हुए हैं। इनमें मारवल, काकपोरा पुलवामा का रहने वाला अरशद अहमद डार पुत्र गुलाम रसूल डार भी है।

वह बीएससी प्रथम वर्ष का छात्र है और बीते कई दिनों से लापता है। लेकिन वह लश्कर में गत 13 जुलाई को सक्रिय हुआ है और उसका कोड अबु हमाल है। पुलवामा जिले के नैना बटपोरा का इरफान अहमद पुत्र मंजूर अहमद अब लश्कर का आतंकी अबु जाफर बन चुका है। वह 11 जुलाई को आतंकी संगठन का हिस्सा बना है।

पुलवामा के साथ सटे जिला अनंतनाग में वागम बीजबेहाड़ा का रहने वाला आदिल अहमद पुत्र अब्दुल रहमान दास बीए पार्ट दो की पड़ाइ्र बीच में ही छोड़ लश्कर का जिहादी बना है। वह आज ही लश्कर का आतंकी बना है। उसका कोड अबु हमास है। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस