जम्मू, राज्य ब्यूरो। स्वास्थ्य निदेशक जम्मू ने बनिहाल कम्यूनिटी हेल्थ सेंटर में नवजात बच्चे को मृत घोषित करने के मामले की जांच के लिए चार सदस्यीय टीम गठित की है। आरोप है कि इस सेंटर में पैदा हुए जिंदा बच्चे को मृत घोषित कर दिया गया।

असिस्टेंट डायरेक्टर योजना डा. संजय तुर्की की अध्यक्षता में गठित कमेटी को दो दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया है। वहीं कमेटी ने जांच शुरू भी कर दी है। इस बच्चे को उसके स्वजनों ने मृत मान कर दफना दिया। लेकिन स्थानीय लोगों ने उसे यह कह कर दफनाने का विरोध किया कि उसे अपने पारिवारिक कब्रिस्तान में दफनाया जाए। मजबूरी में जब स्वजनों ने कब्र खोदी तो बच्चा जिंदा था। यह सब एक घंटे के भीतर हुआ।

इस हादसे के बाद सीसीएच बनिहाल में लोगों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। बच्चे के परिजनों ने आरोप लगाया कि स्टाफ की गलती के कारण बच्चे की जान जा रही थी। इसके तत्काल बाद बीएमअो ने लेबर रूम में तैनात दो स्टाफ सदस्यों को निलंबित कर दिया। मामले की जानकारी मिलने के बाद स्वस्थ्य निदेशक जम्मू डा. सलीम-उर-रहमान ने भी इसे गंभीरता से लिया और चार सदस्यीय टीम गठित कर दो दिनों के भीतर रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए।

इस कमेटी में डा. संजय तुर्की के अलावा बायो मेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट नोडल अधिकारी डा. ज्योति बाहु, रामबन जिला अस्पताल में बाल रोग विशेषज्ञ डा. नरेंद्र और स्त्री रोग विशेषज्ञ डा. शब्बीर शामिल हैं। कमेटी के सदस्य इसके बाद जांच के लिए बनिहाल रवाना हो गए और उन्होंने जांच शुरू कर दी। 

Edited By: Vikas Abrol