कटड़ा, राकेश शर्मा। इन शारदीय नवरात्रों में अब तक साढ़े तीन लाख से अधिक श्रद्धालु मां वैष्णो देवी के दरबार हाजरी लगा चुके हैं। अभी भी मां के भक्तों का तांता लगा हुआ है और देश भर से श्रद्धालु मां के दर्शनों के लिए आधार शिविर कटड़ा पहुंच रहे हैं। श्राइन बोर्ड का कहना है कि इस बार यह संख्या चार लाख का आंकड़ा पार कर लेगी जो पांच सालों में सबसे अधिक है।

श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या को देख कटड़ा के व्यापारी वर्ग में भी खुशी है। राज्य की मौजूदा परिस्थितियों के कारण यात्रा में काफी गिरावट दर्ज की गई थी परंतु शारदीय नवरात्रों में मां के भक्तों का जमावड़ा देख अब उम्मीद जताई जा रही है कि 31 दिसंबर तक श्रद्धालुओं का आना इसी तरह जारी रहेगा। यात्रा आंकडों पर नजर डाली जाए तो वर्ष 2015 में शारदीय नवरात्रों में कुल 276286 श्रद्धालु, वर्ष 2016 में 250417, वर्ष 2017 में 302067, वर्ष 2018 में 318753 श्रद्धालु मां के दरबार शारदीय नवरात्रों में हाजरी लगाने पहुंचे थे। मौजूदा शारदीय नवरात्रों की बात करें तो अभी तक 364643 से अधिक श्रद्धालु मां के दरबार हाजरी लगा चुके हैं। यानी पिछले 5 वर्षों में शारदीय नवरात्रों का यह सर्वाधिक रिकार्ड है। महानवमी के इस पावन पर भी आधार शिविर कटड़ा से लेकर मां वैष्णो के दरबार मां के पावन जयकारों से गुजयमान हो रहा है।

वैष्णो देवी यात्रा में बढ़ोतरी से राज्य को मिली संजीवनी

विश्व प्रसिद्ध तीर्थ स्थल वैष्णो देवी भवन पर उमड़ी श्रद्धालुओं की भारी भीड़ का जम्मू-कश्मीर राज्य का शुभ संकेत देशभर में पहुंचा है निहसंदेह एक ओर जहां राज्य की अर्थिक स्थिति में सुधार हो रहा है तो वहीं व्यपारियों के चेहरे भी खिल उठे हैं। वैसे तो जारी वर्ष में अब तक विभिन्न कारणों से वैष्णो देवी यात्रा गिरावट का दौर लगातार जारी था, जिनमें वर्ष के आरंभर में प्रयागराज में हुआ महांकुभ उसके उपरांत भारत-पाक के बीच तनाव, लोकसभा चुनाव तथा अगस्त माह में राज्य से अनुच्छेद 370 का खत्म होना प्रमुख कारण थे। जिसके चलते वैैष्णो देवी यात्रा लगातार प्रभावित होती रही पर पवित्र शारदीय नवरात्रे आरंभ होते ही एकाएक वैष्णो देवी यात्रा में भारी वृद्धि शुरू हो गई जो वर्तमान में भी जारी है। जिससे व्यपारियों के साथ ही राज्य की अर्थिक स्थिति में सुधार तो हुआ ही है पर राज्य में बने शांतिपूर्ण माहौल का संदेश देश ही नहीं ब्लकि विदेश में भी गया है।

यह एक सुखद पहलु है इसका श्रेय राज्य प्रशासन के साथ ही पर्यटन विभाग, श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड आदि को जाता है जिनके गंभीर प्रयासों से देशभर के लोग राज्य की रुख करने लगे हैं। वहीं जानकारों का मानना है कि श्रद्धालुओं का यह उत्साह निरंतर आगे भी बना रहेगा जिसका लाभ व्यपारी वर्ग के साथ ही जम्मू संभाग को मिलेगा। क्योंकि जारी पवित्र शारदीय नवरात्रों से पहले जहां रोजाना 12 से 15 हजार श्रद्धालु मां वैष्णो देवी के दर्शनो के लिए आधार शिविर कटड़ा पहुंच रहे थे पर वर्तमान में यह आंकडा 38 से 45 हजार के मख्य पहुंच गया है।

  • पहले नवरात्रे में 48900
  • दूसरे नवरात्रे में 40000
  • तीसरे नवरात्रे में 39900
  • चौथे नवरात्रे में 41500
  • पाचवें नवरात्रे में 36800
  • छठे नवरात्रे में 38400
  • सातवें नवात्रे में 38500
  • आठवें नवरात्रे में 41000
  • नोवें नवरात्रे 5 बजे तक करीब 38000

 

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस