आरएसपुरा, संवाद सहयोगी। पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा की अगुवाई में शुक्रवार को चार सदस्यीय शिष्टमंडल ने सीमावर्ती क्षेत्र के गांवों का दौरा कर लोगों का दुख दर्द जानने का प्रयास किया।शिष्टमंडल में यशवंत सिन्हा के अलावा शोभा भारवे, भारत भूषण व कपिल तिवारी शामिल थे।

शिष्टमंडल ने पाक गोलीबारी में मारे गए गांव बेरा व कपूरपूर के लोगों के घर पहुंच कर संवेदना जताई। ग्रामीणों ने पूर्व केंद्रीय मंत्री को अपनी परेशानियों से अवगत करवाया। लोगों ने कहा कि सरकार ने उनको पांच-पांच मरले का प्लाट देने का वादा किया था, पर कुछ नहीं हुआ। सीमांत लोग लगातार पाक गोलाबारी का शिकार हो रहे हैं। सरकार को उनकी समस्या का स्थायी हल ढूंढना चाहिए।

इसके बाद शिष्टमंडल गांव जोड़ा फार्म पहुंचा और गोलीबारी से हुए नुकसान का जायजा लेने के साथ लोगों की समस्याएं सुनीं। शिष्टमंडल ने सुचेतगढ़ ऑक्ट्राय पोस्ट का दौरा कर जवानों का हालचाल जाना। यशवंत सिन्हा ने कहा कि जब अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार थी तब दोनों देशों के बीच सीज फायर के लिए समझौता हुआ था।

दोनों देशों की सीमा पर कई वर्षो तक शांति रही, लेकिन पिछले कुछ वर्षो से पाकिस्तान संघर्ष विराम का उल्लंघन कर भारतीय क्षेत्रों में गोलीबारी कर रहा है, जिससे सीमा के नजदीक रहने वालों को काफी नुकसान हो रहा है। वे सीमांत लोगों के हाल जानने के लिए आए हैं। केंद्र को सीमांत क्षेत्र के लोगों की समस्याओं के बारे में अवगत करवाएंगे। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस