श्रीनगर, राज्य ब्यूरो । पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के एक और वरिष्ठ नेता और पूर्व विधायक शाह मोहम्मद तांत्रे ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा कि पार्टी को कुछ लोग अपनी मर्जी से चलाना चाहते हैं। उन्हें यहां आम लोगों से कोई सरोकार नहीं है। अनुच्छेद-370 की समाप्ति का विरोध नाजायज है, क्योंकि बीते 70 सालों में तीन दर्जन से ज्यादा संशोधनों के चलते यह सिर्फ एक लाश ही था, जिसे हम ढो रहे थे। अच्छा हुआ यह खत्म हो गया। अनुच्छेद-370 हो या न हो, हम भारतीय हैं और भारत हमारा है।

2014 में जिला पुंछ की हवेली विधानसभा सीट से चुनाव जीतने वाले शाह मोहम्मद तांत्रे ने कहा कि हमने लोगों की बेहतरी के लिए सियासत को जरिया बनाते हुए पीडीपी का दामन थामा था। बीते माह हम कुछ लोगों दिलावर मीर, रफी अहमद मीर, जफर इकबाल, अब्दुल मजीद पडरु, राजा मंजूर, जावेद हसन बेग, कमर हुसैन, अब्दुल रहीम ने लोगों के मसलों के हल के लिए उपराज्यपाल से मुलाकात की। हमारी इस मुलाकात पर पार्टी के कुछ ओहदेदारों ने हम सभी को निकालने का फरमान जारी कर दिया।

तांत्रे ने कहा कि हमें आज तक समझ मेें नहीं आया कि निष्कासन का फैसला किसने और किस हैसियत से लिया है। पूरे हालात पर गौर करने के बाद मैंने तय किया कि यह वह पीडीपी नहीं है जो लोगों को हीङ्क्षलग टच के लिए बनी थी। अब यह कुछ खास लोगों की पार्टी है, लिहाजा इससे दूर रहना बेहतर है। इसलिए मैंने पीडीपी से इस्तीफा दे दिया। उप राज्यपाल से मिलना, लोगों की मुसीबतों को दूर करने की बात करना, जम्मू-कश्मीर के लिए पूर्ण राज्य का दर्जा मांगना कोई गुनाह नहीं है।

अच्छा हुआ खत्म हा गया अनुच्छेद-370 

उन्होंने कहा कि अनुच्छेद-370 की समाप्ति पर रोने का कोई फायदा नहीं है। यह तो एक लाश ही थी, जिसे हम उठाए हुए थे। कांग्रेस के शासनकाल में अनुच्छेद 370 में करीब तीन दर्जन संशोधन हुए थे। हमें जम्मू कश्मीर के लोगों की खुशहाली के लिए एक नए जोश के साथ प्रयास करने चाहिए।

पार्टी में पैदा हो गए हैं अराजक तत्व 

तांत्रे ने कहा कि पीडीपी संस्थापक और पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद के निधन के बाद संगठन में कई लीडर और अराजक तत्व पैदा हो गए हैं। पूर्व वित्तमंत्री हसीब द्राबू को निकाल दिया गया, उसके बाद पार्टी हित की बात करने वाले कई विधायकों को दरकिनार किया गया तो उनमें से अधिकांश ने पीडीपी को ही छोड़ दिया।  

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस