श्रीनगर, जेएनएन : नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष डा. फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि देश में विभिन्न समुदायों को बांटने की एक आंधी-सी चली है। अगर यह तुरंत नहीं रुका तो देश का अस्तित्व नहीं रहेगा। बुधवार को डा. फारूक अलोचीबाग में टारगेट किलिंग की शिकार हुई स्कूल की प्रिंसिपल सुपिन्दर कौर के घर शोक संवेदना जताने पहुंचे थे। उन्होंने पीड़ित परिवार के प्रति गहरी संवेदना जताते हुए कहा कि किसी को डरने की जरूरत नहीं है। दुश्मनों से मिलकर मुकाबला करना है। वे पीड़ित परिवार के साथ हैं।

टारगेट किलिंग की शिकार हुई ईदगाह बॉयज हायर सेकेंडरी स्कूल की प्रिंसिपल सुपिंदर कौर के घर पहुंचे फारूक अब्दुल्ला ने इशारे-इशारे में केंद्र सरकार को निशाना बनाया। पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने आरोप लगाया कि देश में विभिन्न समुदायों को बांटने की एक आंधी चली हुई है, जो बहुत घातक है। यह देश को बर्बाद कर देगा। यह आंधी तेजी से पूरे देश को अपनी चपेट में लेता जा रहा है। मुसलमान, सिख और हिंदुओं को देश भर में विभाजित करने का काम किया जा रहा है। लाेगों को यह समझना चाहिए।

पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने प्रिंसिपल सुपिंदर कौर की हत्या किए जाने के सवाल पर कहा कि मुसलमानों, सिखों और पंडितों को एकजुट होकर दुश्मनों का सामना करना होगा। हमें उनके मंसूबों को कामयाब नहीं होने देना है। किसी को यहां डरने की जरूरत नहीं। अभी हाल ही में जम्मू संभाग के दो दिग्गज नेताओं देवेंद्र सिंह राणा और सुरजीत सिंह सलाथिया के पार्टी छोड़ने के सवाल पर फारूक ने कहा कि यह कुछ नया नहीं है। राजनीति में बहुत से नेता पार्टी बदलते हैं। राजनीति में ऐसा चलता है।