जम्मू, गुलदेव राज । बिजली के मोटे बिलों से परेशान किसान खेती की सिंचाई के लिए पंजाब की तरह यहां पर भी सब्सिडी पर सोलर पंप दिलाने की मांग करने लगे हैं। खासकर सीमांत क्षेत्रों में जहां नहर का पानी नही पहुंच पाता और किसान पंप सेट चलाकर ही खेती के काम को आगे बढ़ाते हैं। मगर बिजली के भारी बिल किसानों का बजट बिगाड़ रहे हैं। सीमांत क्षेत्र में तकरीबन दो हजार किसान पंपसेट का इस्तेमाल करता है। किसानों के संगठन जम्मू कश्मीर एग्री इंटरप्रेन्योरशिप डेवेलपमेंट ने केंद्र सरकार व राज्य प्रशासन को पत्र लिख कर जम्मू कश्मीर में सोलर पंप सब्सिडी पर दिलाने की मांग रखी है। कहा है कि बिजली का बिल किसानों की पहुंच से बाहर है। ऐसे कदम उठाए जाएं कि किसानों को राहत मिले।

हालांकि कायदे से 5 एचपी की मोटर लगाने वाले किसानों को प्रति यूनिट 2.20 रुपये की अदायगी करनी होती है। मगर पुराने समय से लगे अधिकांश बिजली के मीटर अब काम नही करते और ऐसे में किसानों से हर माह का फ्लैट किराया वसूला जा रहा है। यही कारण है कि किसानों को पिछले समय में हजारों रुपये के मोटे बिल किसानों को मिले, जिनका भगुतान आज तक नही हो पाया है। सौहांजना के किसान कुलभूषण खजुिरया ने कहा कि बोर वेल कराना किसानों के लिए मुश्किल नहीं। आसानी से सेंट्रल ग्रांउड वाटर बोर्ड से अनुमति मिल जाती है। लेकिन दिक्कत बिजली के किराए की है। जब किसान साल में तीन माह के लिए पंप सेट चलाता है, तो उससे साल भर का किराया क्यों लिया जाए। इस बात को बार बार उजागर भी किया गया मगर कोई हल नही निकला। इसलिए अब किसान चाहते हैं कि सब्सिडी पर उनको सोलर पंप उपलब्ध हों ताकि बिजली के बोझ से ही बचा जा सके।

कैसे काम करता है सोलर पंप सेट

जमीन से पानी लेने के लिए किसानों काे पंप सेट बिजली के जरिए चलाना होता है। मगर सोलर पंप सेट आने से बिजली की जरूरत नही पड़ेगी। क्योंकि सोलर तकनीक के जरिए बैटरी सूरज की किरणों काे लेकर चार्ज होगी और उर्जा देगी। इसी से पंपसेट चलेगा व जमीन से पानी निकालेगा। ऐसे में बिजली की खपत नहीं होगी और किसानों का खर्चा भी बचेगा। देश के अन्य राज्यों में सोलर पंप सेट का जोर बढ़ रहा है।

सोलर पंप पर अभी सब्सिडी का प्रावधान नहीं : कृषि विभाग

कृषि विभाग जम्मू के उप निदेशक अरविंद्र सिंह रीन ने कहा कि अभी तक सोलर पर सब्सिडी की कोई योजना विभाग के पास नहीं आई है। लेकिन उम्मीद करते हैं कि आने वाले समय में यह स्कीम यहां पर आएगी और फिर इसका लाभ किसानों को दिया जाएगा। वैसे सोलर पंप सेट का प्रचलन दूसरे राज्यों में बढ़ रहा है। क्योंकि किसानों पर बिजली का बोझ नही पड़ता। सोलर पंप के लिए विभाग गंभीर है।

अब है सोलर का जमाना : किशोर कुमार

तहरीक ए किसान जम्मू कश्मीर के प्रधान किशोर कुमार का कहना है कि बिजली पर पंप सेट चलाने का अब जमाना ही नही। एक तो मोटा बिजली का बिल तो वहीं बिजली पूरी मिलती नही। ऐसे में सोलर पंप ही समाधान है। राज्यपाल से गुजारिश है कि वह किसानों के भले के लिए इस दिशा में काम करे और हर जरूरत मंद किसानों को सोलर पंप सेट दिलाए ताकि सिंचाई के लिए किसान परेशान ही न हो। कृषि विभाग 90 फीसद सब्सिडी पर सोलर पंप सेट किसानों को दिलवाए।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस