जम्मू, जागरण ब्यूरो। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में कोरोना के लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग ने उन सभी रजिस्ट्रार, सीनियर व जूनियर रेजीडेंट डाक्टरों और डिमान्स्ट्रेटर की समय अवधि दो महीनों के लिए बढ़ा दी है जिनका कार्यकाल 31 दिसंबर को समाप्त हो गया था लेकिन अभी तक वे मेडिकल कालेजों में काम कर रहे हैं। यह डाक्टर 28 फरवरी तक अपनी सेवाएं जारी रख सकते हैं।

जम्मू-कश्मीर में 9223 लोगों ने लगवाई सतर्कता डोज

जम्मू-कश्मीर में सतर्कता डोज लगवाने वालों में मंगलवार को फिर से उत्साह दिखा। 9223 और लोगों ने सतर्कत डोज लगवाई। अब तक कुल डेढ़ लाख से अधिक सतर्कता डोज दी जा चुकी है। वहीं अन्य वगों में भी टीकाकरण अभियान जारी है।नेशनल हेल्थ मिशन से मिले आंकड़ों के अनुसार मंगलवार को 17,595 लोगों ने पहली डोज ली। इनमें अधिकांश 15-17 आयु वर्ग के किशोर शामिल थे। वहीं 9820 लोगों ने दूसरी डोज ली।

अभी तक कुल दो करोड़, दो लाख 73 हजार से अधिक डोज जम्मू-कश्मीर में लोगों को दी जा चुकी है। सिर्फ किश्तवाड़ जिला ही एकमात्र ऐसा जिला है जहां पर अठारह साल से अधिक आयु वर्ग में 88.50 प्रतिशत लोगों ने दूसरी डोज ली है। अन्य सभी जिलों में सौ फीसद लोग दोनो डोज ले चुके हैं।

Edited By: Vikas Abrol