श्रीनगर, जेएनएन। दक्षिण कश्मीर के ख्रियू (पुलवामा) में मंगलवार को आतंकियों के साथ एक भीषण मुठभेड़ में एक सैन्यकर्मी और एक एसपीओ (स्पेशल पुलिस आफिसर) समेत दो सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए। इसके अलावा दो जवान घायल भी हुए हैं। मुठभेड़ के दौरान घेराबंदी तोड़ भाग निकले आतंकियों को पकड़ने के लिए सुरक्षाबलों ने व्यापक अभियान छेड़ दिया है।

वहीं, शहीदों की पहचान एसपीओ शहबाज अहमद पुत्र अब्दुल अजीज निवासी राजौरी (जम्मू कश्मीर) और सैन्यकर्मी राहुल रायनसवाल निवासी उत्तराखंड के रूप में हुई है। जानकारी के अनुसार, ख्रियू के जामतराग इलाके में तड़के जैश-ए-मोहम्मद के चार आतंकियों का एक दल अपने किसी संपर्क सूत्र से मिलने आया था। इसका पता चलते ही सेना, पुलिस और सीआरपीएफ के एक संयुक्त कार्यदल ने घेराबंदी करते हुए आतंकियों को पकड़ने के लिए एक अभियान चलाया। ये आतंकी जामतराग गांव में मीर मोहल्ले के बाहरी छोर पर जंगल के साथ सटे एक मकान में शरण लिए हुए थे।

सुरक्षाबलों ने मुठभेड़स्थल के आसपास फंसे लोगों को निकाला : आतंकियों ने जवानों को अपने ठिकानों की तरफ आते देख पर उनपर पहले राइफल ग्रेनेड दागा और उसके बाद स्वचालित हथियारों से फायरिंग शुरू कर दी। जवानों ने खुद को बचाते हुए जवाबी फायर किया। इसके साथ ही दोनों तरफ से भीषण गोलीबारी शुरू हो गई। जवानों ने आतंकियों की गोलियों का जवाब देते हुए आसपास के मकानों में फंसे लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला। सुरक्षाबलों ने आतंकियों को कई बार आत्मसमर्पण करने के लिए कहा, लेकिन आतंकियों ने गोलाबारी जारी रखी।

छिपे आतंकियों ने अचानक कर दी गोलाबारी : करीब आधे घंटे बाद आतंकियों ने गोलीबारी बंद कर दी। जवानों को लगा कि आतंकी मारे गए हैं और वे सावधानीपूर्वक आगे बढ़े तो मुठभेड़स्थल पर छिपे आतंकियों ने उनपर अचानक ताबड़तोड़ गोलीबारी शुरू कर दी। इसमें चार सुरक्षाकर्मी घायल हो गए। अन्य जवानों ने तुरंत पोजीशन ली और जवाबी फायर किया। इसके साथ ही उन्होंने वहां जख्मी पड़े अपने घायल साथियों को उठाकर अस्पताल पहुंचाने का बंदोबस्त किया। अस्पताल में डॉक्टरों ने एसपीओ शहबाज अहमद को शहीद घोषित कर दिया। वहीं, सैन्यकर्मी राहुल रायनसवाल भी इलाज के दौरान शहीद हो गए। दो अन्य घायल सुरक्षाकर्मियों की स्थिति खतरे से बाहर और स्थिर बताई जाती है।

मौका मिलते ही भाग निकले आतंकी : सूत्रों ने बताया कि सुरक्षाबल जब अपने घायल साथियों को हटा रहे थे तो उसी दौरान आतंकी घेराबंदी तोड़ भाग निकले। सुरक्षाबलों ने मुठभेड़स्थल पर मिले आतंकियों के खून के धब्बों का संज्ञान लेते हुए पूरे इलाके की घेराबंदी करते हुए आतंकियों को पकड़ने के लिए अभियान जारी रखा हुआ है। हो सकता है कोई आतंकी घायल या मारा गया हो और उसके साथी उसे अपने साथ ले गए हों।

सनद रहे कि गत सोमवार को सुरक्षाबलों ने कश्मीर के जिला शोपियां के वाची इलाके में हिजबुल के कुख्यात कमांडर वसीम अहमद समेत तीन आतंकियों को मार गिराया था। वसीम कई लोगों की हत्याओं के अलावा विभिन्न आतंकी वारदात में शामिल था। मारे गए आतंकियों में पीडीपी के पूर्व विधायक एजाज अहमद मीर के घर से हथियार चुराने वाला पूर्व एसपीओ (स्पेशल पुलिस आफिसर) आदिल शेख आैर जहांगीर मलिक भी शामिल था। 

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस