श्रीनगर, जेएनएन। जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में तीन आतंकी मारे गए हैं। मुठभेड़ श्रीनगर के बटमालू इलाके में चल रही थी। यह मुठभेड़ आज वीरवार तड़के 3 बजकर 50 मिनट पर शुरू हुई। आइजीपी कश्मीर विजय कुमार ने तीन आतंकवादियों के मारे जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि मारे गए तीनों आतंकी स्थानीय थे और उनकी पहचान कर ली गई है। क्रास फायरिंग में स्थानीय 45 वर्षीय महिला की भी मौत हुई है। इसके अलावा सीआरपीएफ की 117 बटालियन के डिप्टी कमांडेंट राहुल कुमार इस दौरान घायल हो गए। उन्हें इलाज के लिए 92 बेस अस्पताल भर्ती कराया गया है। 

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि आज श्रीनगर में हुए मुठभेड़ में तीन आतंकी मारे गए। दुख की बात ये है कि इस मुठभेड़ में हमारे CRPF के एक डिप्टी कमांडेंट घायल हुए और साथ ही इसमें एक सिविलियन की जान भी गई। अभी तक इस साल के दौरान श्रीनगर शहर में 7 कामयाब ऑपरेशन किए जा चुके हैं: जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह

दिलबाग सिंह ने बताया कि इस सात ऑपरेशनों में 16 आतंकवादियों को मारा गया है। इस साल कुल 72 ऑपरेशन में 177 आतंकवादी को मारा गया। इसमें बड़ी तादाद विदेशी आतंकवादी की है जिसका संबंध पाकिस्तान से है इसमें 22 आतंकवादी जो मारे गए हैं वो पाकिस्तान से जुड़े हुए हैं।

कश्मीर जोन पुलिस ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की जानकारी मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने बटमालू के फिरदौसाबाद इलाके में देर रात करीब ढाई बजे घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू किया था। उन्होंने बताया कि आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी की जिसके बाद तलाशी अभियान मुठभेड़ में तब्दील हो गया।अधिकारियों ने बताया कि क्रास फायरिंग में 45 वर्षीय महिला जिसकी पहचान कौसर रियाज के तौर पर हुई है, गंभीर रूप से घायल हो गई। जवानों व स्थानीय लोगों की मदद से उसे अस्पताल पहुंचाया गया परंतु डॉक्टरों ने उसे मृत लाया घोषित कर दिया। वहीं मुठभेड़ के दौरान सीआरपीएफ के डिप्टी कमांडेंट राहुल कुमार भी घायल हो गए। उन्हें तुरंत सैन्य अस्पताल 92 बेस पहुंचाया गया। जहां उनका इलाज चल रहा है।

करीब छह से सात घंटे तक चली इस मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने इलाके में छिपे तीनों आतंकवादियों को एक बाद एक मार गिराया। मारे गए आतंकवादियों की पहचान जाकिर अहमद पॉल पुत्र निसार अहमद निवासी अलूरा इमाम साहिब शोपियां, उबेर मुश्ताक भट पुत्र मुश्ताक अहमद भट निवासी बद्रागुंड कुलगाम और आदिल हुसैन भट पुत्र अब्दुल रशीद भट निवासी बाटापोरा अवंतीपोरा के तौर पर हुई है। सुरक्षाबलों ने तीनों आतंकवादियों के शवों को अपने कब्जे में ले लिया। उनसे से हथियार व गोलाबारूद भी बरामद हुए हैं। इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाने के बाद जवान वापस लौट गए हैं।

इससे पहले बुधवार को सुरक्षाबलों को पुलवामा के काकापोरा के मारवल गांव में आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी। इसके बाद सुरक्षाबलों ने इलाके में  सर्च ऑपरेशन शुरू किया। इसी दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। जम्मू-कश्मीर पुलिस, आर्मी की 50 आरआर और सीआरपीएफ की ज्वॉइंट टीम ने आतंकियों को घेर लिया।सुरक्षाबलों को दो से तीन आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी। इस मुठभेड़ में दो जवान घायल हो गए हैं। फिलहाल,  मुठभेड़ अभी भी चल रहा है। अधिक जानकारी की प्रतीक्षा है। 

जानकारी के अनुसार, इससे पहले जम्मू-कश्मीर पुलिस ने मंगलवार को हिजबुल मुजाहिद्दीन आतंकी संगठन के एक गिरोह का भंडाफोड़ किया था। पुलिस को सूचना मिली थी कि कश्मीर के तीन युवकों का एक संगठन पाकिस्तानी आतंकियों के संपर्क में है। संगठन के तीनों युवकों की पहचान गुटलीबाग निवासी अर्शिद अहमद खान, गांदरबल निवासी माजिद रसूल और मोहम्मद आसिफ नजर के रूप में की गई। तीनों लोग पाकिस्तानी आतंकी फयाज खान के संपर्क में थे। वही उन्हें इलाके में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के निर्देश देता था।

राजौरी में पाक की भारी गोलाबारी में भारतीय सेना के 1 जवान शहीद

जानकारी के अनुसार पाकिस्तान ने बिना उकसावे के संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए छोटे हथियारों से गोलीबारी की और मोर्टार दागे। जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी की गई और मोर्टार दागे गए। इसमें भारतीय सेना के 16 कोर में तैनात जवान नाइक अनीश थॉमस शहीद हो गए। इसके अलावा एक अधिकारी सहित दो अन्य घायल हो गए। सेना के अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तानी की ओर से गोलीबारी सुंदरबनी सेक्टर में हुई। इसका भारतीय सेना ने मुंहतोड़ जवाब दिया।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस