संवाद सहयोगी, रामगढ़ : सांबा जिले के तीन ब्लॉकों में आठवें चरण में 83.96 फीसद मतदान हुआ। मतदान शनिवार सुबह आठ बजे शुरू हुआ और दोपहर बाद दो बजे खत्म हुआ। ब्लॉक रामगढ़, घगवाल और राजपुरा के 35 पंचायत हलकों में कुल 837 प्रत्याशी मैदान में थे, जिनमें 157 सरपंच और 680 पंच उम्मीदवार शामिल थे। कुल 72571 मतदाताओं में से 60742 ने मतदान किया।

आठवें चरण के चुनाव में मतदाताओं में खासा उत्साह देखने को मिला। शनिवार सुबह कड़ाके की ठंड के बावजूद सीमांत लोग मतदान केंद्रों पर पहुंच कर कतारों में खड़े हो गए। जैसे ही आठवें चरण की मतदान प्रक्रिया शुरू हुई, वैसे ही मतदाता मतदान केंद्रों पर अपने मत का प्रयोग करके चहेते प्रत्याशियों के पक्ष में मतदान करने लगे। ब्लॉक रामगढ़ में मतदान का आंकड़ा 12.02 फीसद से शुरू होकर 84.00 फीसद पर पहुंच कर बंद हुआ। ब्लॉक घगवाल में शुरुआती समय में आठवें चरण की मतदान प्रक्रिया का आंकड़ा 10.97 फीसद रहा, जो अंतिम समय में 84.52 फीसद पर पहुंचा। वहीं, ब्लॉक राजपुरा में पहले घंटे के मतदान का आंकड़ा 11.42 फीसद रहा, जो निर्धारित समयावधि समाप्त होने पर 83.15 फीसद रिकॉर्ड किया गया। आठवें व सांबा जिले के अंतिम चरण में मतदान के आंकड़े छठे व सातवें चरण की मतदान प्रक्रिया की तुलना में कुछ कम दर्ज हुए। मतदान के आंकड़ों में दर्ज हुई आंशिक कमी मतदाता सूचियों में हुई गड़बड़ी मानी जा रही है। आठवें चरण की पंचायत चुनाव प्रक्रिया संपन्न होने के बाद ब्लॉक स्तर पर मतगणना का काम शुरू कर नवनिर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों के नामों की घोषणा कर दी गई।

जिला सांबा में आठवें चरण के पंचायत चुनाव में हर उम्र के मतदाताओं में खासा उत्साह व जोश देखने को मिला। बजुर्गो व पहली बार मतदान प्रक्रिया में भाग लेने वाले युवाओं में मतदान को लेकर काफी जोश दिखा। गांव पंचायत चक बलोत्रा में 105 वर्षीय बुजुर्ग महिला सावित्री देवी ने मतदान किया। पंचायत स्वांखा में 90 वर्षीय गिरदावरी देवी, पंचायत अबताल में 98 वर्षीय काकी देवी ने मतदान प्रक्रिया में हिस्सा लिया। वहीं, पहली बार अपने मत का प्रयोग करने वाली युवतियों व युवाओं में भी खासा उत्साह देखने को मिला। मतदान केंद्रों की सुरक्षा में तैनात पुलिस व पैरा मिलिट्री फोर्स के जवानों ने भी बजुर्गो व दिव्यांग मतदाताओं को मतदान केंद्रों तक सम्मान पूर्वक पहुंचा कर अपने फर्ज को निभाया। आठवें चरण के मतदान के आंकड़े में दर्ज हुई कुछ कमी

रामगढ़ : जिला सांबा के रामगढ़, घगवाल और राजपुरा ब्लॉक में आठवें चरण के मतदान का आंकड़ा छठे व सातवें चरण की मतदान की तुलना में कुछ कम दर्ज हुआ। आठवें व जिले के अंतिम चरण के मतदान के आंकड़े में आंशिक कमी दर्ज होने का मुख्य कारण मतदाता सूचियों में हुई गड़बड़ी मानी जा रही है। कई पंचायत हलकों में नए सिरे से बनाई गई मतदाता सूचियों में अधिकांश मतदाताओं के नाम व पते गलत छापे गए हैं। कई पंचायत हलकों में सैकड़ों मतदाताओं के नाम मतदाता सूचियों में दर्ज न होने से मतदान के आंकड़े में कमी आना स्वाभाविक माना जा रहा है। हालांकि आठवें चरण का मतदान का आंकड़ा 83.96 फीसद पर पहुंच कर बंद हुआ, लेकिन इससे पूर्व जिले में छठे चरण में मतदान का आंकड़ा 84.68 फीसद तथा सातवें चरण में मतदान का आंकड़ा 86.48 फीसद रिकार्ड हुआ था। कड़े सुरक्षा प्रबंधों के बीच हुआ मतदान

रामगढ़ : आठवें चरण की पंचायत मतदान प्रक्रिया को शांतिपूर्ण ढंग से मुकाम तक पहुंचाने के लिए हर तरफ सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे। ब्लॉक रामगढ़, घगवाल और राजपुरा में बनाए गए मतदान केंद्रों की सुरक्षा के लिए विशेष रणनीतियों को अमल में लाया गया। तीनों ब्लॉकों के 285 मतदान केंद्रों की पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस, बीएसएफ, सीआइएसएफ और सीआरपीएफ जवानों ने अपनी अहम भूमिका निभाई। वहीं, मतदान प्रक्रिया व पंचायत हलकों की स्थिति पर नजर रखने के लिए विशेष पुलिस टुकड़ियों का गठन किया गया था। हर मतदान केंद्र पर पहुंच कर पुलिस जांच टीम ने मतदान प्रक्रिया को जांचा और हर परिस्थिति पर अपनी नजर रखी। आठवें व अंतिम चरण की मतदान प्रक्रिया के लिए किए गए सुरक्षा के पुख्ता प्रबंधों को लेकर एसएसपी सांबा डॉ. केके शर्मा ने अपनी विशेष टीमों व तैनात जवानों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि हर तरफ कड़े सुरक्षा प्रबंधों के चलते आठवें चरण की मतदान प्रक्रिया शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुई। एसएसपी सांबा ने ब्लॉक स्तर पर प्रत्याशियों व मतदाताओं का आभार भी जताया, जिन्होंने मतदान प्रक्रिया को शांतिपूर्ण ढंग से मुकाम तक पहुंचाने में अपना योगदान दिया।

Posted By: Jagran