जम्मू, जागरण संवाददाता । सीमावर्ती आरएसपुरा के गवर्नमेंट मिडिल स्कूल पुराना पिंड में एक दिवसीय निशुल्क चिकित्सा शिविर में हृदयरोग विशेष डॉ. सुशील कुमार शर्मा ने नशाखोरी को समाज के लिए सबसे बड़ा खतरा बताया। उन्होंने कहा कि मादक पदार्थों के सेवन से होने वाले दुष्परिणाम और इनके लक्षणों के प्रति आजकल सभी को जागरूक होना बहुत जरूरी है ताकि इसका जल्दी से पता लगाकर सही समय पर प्रभावित की मदद की जा सके।

डॉ. सुशील ने बताया कि मादक पदार्थों के सेवन से इसका सीधा असर हृदय पर पड़ता है। उन्होंने धूमपान का सेवन करने वालों को इस बुरी लत से बचने की नसीहत देते हुए कहा कि इससे स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ता है। रोगी की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी काफी कम हो जाती है। उन्होंने कहा कि बुरी अादतों से छुटकारा पाने के लिए योग और ध्यान का सहारा लिया जा सकता है। उन्होंने सुबह आैर शाम के समय सैर करने, शारीरिक व्यायाम करने आैर टहलने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि उक्त रक्तचाप, मधमुह रोगियों को विशेष रूप से सजग रहना चाहिए क्योंकि एेसे मरीज आसानी से दिल से संबंधित बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। डॉ. सुशील कुमार शर्मा ने कहा कि अगर क्षेत्र में कोई मादक पदार्थों को बेचकर समाज की नींव को खोखला करने में संलिप्त है तो इसकी जानकारी तुरंत पुलिस को देनी चाहिए ताकि ऐसे समाज के दुश्मनों के खिलाफ कार्रवाई की जा सके।

एक दिवसीय चिकित्सा शिविर के दौरान क्षेत्र के 300 मरीजों के स्वास्थ्य की जांच कर उन्हें निशुल्क दवाएं भी उपलब्ध करवाई गई। पूर्व मंत्री शाम चौधरी, सतपाल कुमार, राज कुमार, लाभ शर्मा एवं अन्य गणमान्य नागरिकों ने डॉ. सुशील शर्मा और उनकी टीम का आभार जताया। चिकित्सा शिविर में डॉ. शाहबाज खान, डॉ. धनेश्वर कपूर सहित पैरामेडिकल स्टाफ के कमल शर्मा, मोहम्मद अल्ताफ, गौरव हीरा, संदीप कोहली सहित स्वयंसेवियों ने अपनी सेवाएं दी।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस