श्रीनगर, राज्य ब्यूरो : केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने शनिवार को कहा कि सोपोर हमले में लिप्त आतंकियों और उनके संगठन (लश्कर) को चिन्हित कर लिया गया है। जल्द ही उन्हेंं उनके किए की सजा मिलेगी।

शहीद पुलिसकर्मियों को दी गई श्रद्धांजलि

डीजीपी हमले में शहीद पुलिसकॢमयों को एक भावपूर्ण समारोह में श्रद्धांजलि अॢपत करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। दिलबाग सिंह ने कहा कि सोपोर पुलिस स्टेशन से पुलिसकर्मियों का एक दस्ता आरमपोरा में कोविड ड्यूटी के लिए गया था और उस पर वहां हमला हुआ।

उन्होंने कहा कि यहां कश्मीर में पुलिस व अन्य सुरक्षाबल अत्यंत प्रतिकूल और खतरनाक हालात में काम कर रहे हैं। हमारी जिम्मेदारी ही ऐसी है कि हमें खतरे में रहते हुए ही कई बार काम करना होता है। हमारा प्रयास है कि जो भी इस वारदात में शामिल रहा है, उसे कानून के मुताबिक जल्द से जल्द सजा दिलाई जाए।

सुरक्षाबल आतंकियों पर हावी 

हाल ही में वादी में आतंकी हिंसा में आई तेजी संंबंधी सवाल पर उन्होंने कहा कि पुलिस व अन्य सुरक्षा एजेंसियां आतंकियों पर पूरी तरह हावी हैं। वादी में स्थिति नियंत्रण में हैं। आतंकी अपनी उपस्थिति का अहसास कराने के लिए कई बार कुछ सनसनीखेज वारदात करते हैं। अगर स्थिति का आकलन किया जाए तो आप खुद महसूस करेंगे कि आतंकी हिंसा बढऩे के बजाय लगातार घटती जा रही है।

जल्द ही वादी में शांति और सामान्य स्थिति पूरी तरह बहाल होगी

कोविड से पैदा हालात के कारण सुरक्षाबलों ने अपने आतंकरोधी अभियान कुछ कम किए थे, लेकिन अब इनमें एक बार फिर तेजी लाई जा रही है।उन्होंने कहा कि जल्द ही कश्मीर घाटी में बचे आतंकियों का खात्मा कर दिया जाएगा। हालांकि भटके युवाओं को मुख्य धारा से जोड़ने के लिए पुलिस और सुरक्षाबलों की ओर से सभी सार्थक प्रयास भी जारी रहेंगे लेकिन आतंकी घटनाओं को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जल्द ही वादी में शांति और सामान्य स्थिति पूरी तरह बहाल होगी। इससे पूर्व उन्होंने शहीद पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित की। 

सोपोर थाना प्रभारी का तबादला

सोपोर में शनिवार को हुए आतंकी हमले के बाद सोपोर पुलिस थाना प्रभारी आजिम इकबाल को हटा दिया गया है। पुलिस प्रशासन ने उनके स्थान पर इंस्पेक्टर खालिद फैयाज को सोपोर को थाना प्रभारी नियुक्त किया है। आजिम इकबाल को दक्षिण कश्मीर पुलिस रेंज में रिपोर्ट करने के लिए कहा गया है।

Edited By: Vikas Abrol