जागरण संवाददाता, जम्मू : सेवानिवृत्त पुलिस कर्मियों ने वेतन विसंगतियों को दूर करने सहित अन्य मांगों को लेकर सोमवार को राज्य प्रशासन के विरुद्ध रोष जताया। ऑल जेएंडके रिटायर्ड पुलिस पर्सनल एंड अदर्स फोरम के बैनर तले सेवानिवृत्त पुलिस कर्मी प्रदर्शनी मैदान के बाहर एकत्रित हुए।

फोरम के प्रधान अजीत सिंह ने कहा कि आतंकवाद प्रभावित जम्मू-कश्मीर में पुलिस कर्मी सैन्य कर्मियों की तरह काम कर रहे हैं। इसके बाद भी उन्हें सेना की तर्ज पर लाभ नहीं मिल रहे। सरकार को चाहिए उन्हें भी सेना की तरह वन रैंक वन पेंशन योजना का लाभ दे। उन्होंने कहा कि वेतन विसंगतियों को दूर करने के लिए कुछ वर्ष पूर्व कोर्ट ने तत्कालीन सरकार को निर्देश दिए थे, लेकिन उन्हें अभी तक नहीं माना गया है। पिछली सरकार की बेरुखी से वे खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं। उन्होंने ने कहा कि सेवानिवृत्त पुलिस कर्मियों ने राज्यपाल से उन्हें उनके हक देने की अपील भी की थी, लेकिन अभी तक उनकी मांग को अभी तक माना नहीं गया है। सेवानिवृत्त कर्मियों का स्वास्थ भत्ता 300 से बढ़ाकर तीन हजार करने, सेना और अ‌र्द्धसैनिक बलों की तरह पुलिसकर्मियों को भी कैशलेस हेल्थ केयर पॉलिसी देने, पुलिस भर्ती में सेवानिवृत्त कर्मियों के बच्चों को आरक्षण देने, सेवानिवृत्त कर्मियों के निधन पर परिवार को पचास हजार रुपये आर्थिक सहायता देने की मांग भी की।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप