जम्मू, जागरण संवाददाता। विदेश मंत्रालय के फर्जी लेटरहेड पर पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के हस्ताक्षर कर हेलीकाप्टर की टिकटें करवाने वाला आरोपित संदीप कौल इस काम के लिए पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के फर्जी हस्ताक्षर का भी इस्तेमाल किया करता था। जांच में जुटी क्राइम ब्रांच को पता चला कि छन्नी हिम्मत जम्मू में रहने वाला संदीप कौल दरअसल टूर एंड ट्रेवल्स एजेंसी चलाता था। वह माता वैष्णो देवी के दर्शनों के लिए उसके पास आने वाले पर्यटकों की हैलीकाप्टर टिकट सुनिश्चित कराने के साथ उन्हें वीआईपी ट्रीटमेंट प्रदान करने के लिए ऐसा करता था।

क्राइम ब्रांच ने पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के फर्जी हस्ताक्षर कर माता वैष्णो देवी के अाधार शिविर से हैलीकाप्टर की टिकटें बुक करने के मामले में भी कोर्ट में चालान पेश किया। आरोपित संदीप ने जांच के दौरान क्राइम ब्रांच के अधिकारियों को बताया कि वह शास्त्री नगर में देश प्रदेश टूर एंड ट्रेवल्स के नाम से एजेंसी चलाता था। माता वैष्णों देवी के दर्शनों के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए वह हैलीकाप्टर की टिकटें बुक करने के लिए यह फर्जीवाड़ा करता था।

महूबबा के फर्जी हस्ताक्षर मामले में जम्मू कश्मीर के गृह विभाग के अतिरिक्त सचिव खालिद जहांगीर ने भी क्राइम ब्रांच में शिकायत दर्ज करवाई थी। उन्होंने बताया था कि किसी अज्ञात ने मुख्यमंत्री के फर्जी हस्ताक्षर किया पत्र श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के सीईओ के पास पेश कर 27 और 28 अप्रैल, 2017 के लिए हैलीकाप्टर टिकटें बुक करने के लिए कहा था।

इस शिकायत के आधार पर क्राइम ब्रांच ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी। आरोपित को जल्द गिरफ्तार कर लिया। उसी जांच के दौरान क्राइम ब्रांच को पता चला कि वह पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के ही नहीं बल्कि विदेश मंत्री स्वर्गीय सुष्मा स्वराज के भी फर्जी हस्ताक्षर किया हुआ लेटरहेड इस्तेमाल करता आ रहा है। विदेश मंत्री के हस्ताक्षर मामले में क्राइम ब्रांच ने कुछ दिन पहले ही आरोपित के खिलाफ चालान पेश किया था।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस