जम्मू, राज्य ब्यूरो: मुख्य सचिव डा. अरुण कुमार मेहता ने लोगों को कोविड की संभावित तीसरी लहर से बचाव के लिए जागरूकता अभियान चलाने को कहा। कोविड की स्थिति की समीक्षा करते हुए मुख्य सचिव ने यह निर्देश दिए। बैठक में स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अटल ढुल्लू भी मौजूद थे।

मुख्य सचिव ने कहा कि पिछले एक पखवाड़े में औसतन हर दिन संक्रमण के 130 मामले आ रहे हैं। लोगों द्वारा एसओपी का पालन न करने के कारण ही केस कम नहीं हो रहे हैं। बैठक में बताया गया कि हर दिन पचास हजार कोविड टेस्ट हो रहे हैं। जम्मू में दो दिनों में संक्रमण दर बढ़ी है। कुछ जिलों में मामले बढ़ना चिंताजनक है। कोरोना के मरीजों की जिनोम स्टडी से यह सामने आया है कि अस्सी फीसद मामले डेल्टा वैरिएंट संक्रमण के हैं। यह खतरनाक है और इसमें मरीज को कई प्रकार की दिक्कतें आ सकती हैं।

मुख्य सचिव ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए कि वह जिन जिलों में अधिक केस आ रहे हैं, वहां के हालात के अनुसार प्रतिबंध लगाएं। माइक्रीे कंटेनमेंट जोन में एसओपी का सख्ती के साथ पालन करवाएं। जो भी नियमों का पालन नहीं करता है, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। स्वास्थ्य विभाग को विभिन्न बाजारों के संगठनों, व्यापारियों के संगठनों के साथ मिलकर जुर्माना करने का तरीकाकार अपनाना चाहिए। उन्होंने लोगों से भी सार्वजनिक स्थलों पर जाते हुए एसओपी का पालन करने की अपील की। जिन विभागों और बाजारों में एसओपी का पालन नहीं हो रहा, दसके लिए जिम्मेदार लोगों की जिम्मेदारी तय की जाए। नेशनल हेल्थ मिशन के अधिकारियों को लोगों कोे जागरूक करने को कहा गया।

Edited By: Rahul Sharma