श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। कोरोना संक्रमण से एक युवक की मौत के बाद प्रशासन ने कश्मीर में सभी मस्जिदों व अन्य धर्मस्थलों को 15 अप्रैल तक बंद करने का फैसला किया है। इसी बीच, जम्मू कश्मीर शरियत अदालत के प्रमुख और जम्मू कश्मीर के मुफ्ती ए आजम नासिर उल इस्लाम ने नमाज-ए-जुमे समेत सभी प्रकार की सामूहिक नमाजों को स्थगित कर दिया है।

उन्होंने कहा कि मस्जिदों में सिर्फ अजान के मुअज्जिन व दो-तीन युवक ही नमाज के लिए होने चाहिए। अन्य सभी लोग घरों में नमाज अदा करें। इस बीच, कश्मीर के स्लामिक संगठनों और उलेमाओं ने लोगों से प्रशासनिक पाबंदियों का पूरा पालन करने का आह्वान किया है।

जम्मू कश्मीर में 14 तक सभी अदालतें बंद :

जम्मू कश्मीर में भी सभी अदालतें 14 अप्रैल तक बंद कर दी गई हैं। चीफ जस्टिस गीता मित्तल ने वीरवार को इस संदर्भ में आदेश जारी किया। आदेशानुसार 14 अप्रैल तक हाईकोर्ट की श्रीनगर व जम्मू ¨वग समेत जम्मू कश्मीर की सभी निचली अदालतें बंद रहेंगी।

जम्मू-कश्मीर राहत कोष में दे योगदान :

उपराज्यपाल जीसी मुर्मू ने अपने संदेश में कहा है कि देश में बढ़ती कोविड-19 महामारी से प्रभावित हर जगह समुदायों और अर्थव्यवस्थाओं को एक साथ अभूतपूर्व चुनौती का सामना करना पड़ रहा है। कोविड-19 महामारी सरकारों, उद्योगों और क्षेत्रों के संगठनों और व्यक्तियों को इस वैश्विक प्रकोप का जवाब देने में मदद करने के लिए विश्व को एक साथ ला रही है। कृपया जम्मू-कश्मीर राहत कोष का समर्थन करें और दान करें। इसके लिए जम्मू कश्मीर बैंक खाते में लोग अपना योगदान दे सकते हैं। खाता संख्या- 0110010100000016

कश्मीर में लॉकडाउन सख्ती से लागू, 31 गिरफ्तार :

श्रीनगर समेत वादी के हर हिस्से में वीरवार को प्रशासन ने लॉकडाउन को सख्ती से लागू किया। आम लोगों की आवाजाही को रोकने के लिए विभिन्न सड़कों और गलियों को कंटीली तारों से बंद रखा गया था। सड़कों पर सिर्फ आवश्यक सेवाओं से जुड़े विभागों के अधिकारी व उनके वाहन या फिर स्वास्थ्य विभाग की टीमें व सुरक्षाकर्मी ही नजर आए। इस बीच, पुलिस ने घाटी के विभिन्न हिस्सों में निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने पर 31 लोगों को गिरफ्तार करने के अलावा दो वाहन भी जब्त किए हैं। जम्मू में भी लॉकडाउन सख्ती से लागू रहा। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस