जम्मू, राज्य ब्यूरो। कांग्रेस की प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने शुक्रवार को सभी को हैरान करते हुए पार्टी से इस्तीफा दे दिया। पूर्व मुख्यमंत्री और नैकां उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने उनके इस्तीफे के लिए कांग्रेस की आलोचना करते हुए कहा कि उनका जाना पार्टी के लिए नुकसानदायक और दुर्भाग्यजनक है।

प्रियंका चतुर्वेदी कांग्रेस की तेज तर्रार प्रवक्ता थीं। वह अकसर न्यूज चैनलों पर होने वाली राजनीतिक बहसों में कांग्रेस के पक्ष को मजबूती से रखते हुए नजर आती थी। आज सुबह ही उन्होंने पार्टी प्रमुख राहुल गांधी को अपना इस्तीफा दिया। वह बीते कई दिनों से संगठन में अपनी उपेक्षा और उनके साथ कुछ नेताओं की कथित बदसलूकी से नाराज थीं।

इस विषय में उन्होंने एक ट्वीट भी किया और लिखा कि काफी दुखी हूं कि अपना खून-पसीना बहाने वालों से ज्यादा गुंडों को कांग्रेस में तरजीह मिल रही है। पार्टी के लिए मैंने गालियां और पत्थर खाए हैं, लेकिन उसके बावजूद पार्टी में रहने वाले नेताओं ने ही मुझे धमकियां दीं। जो लोग धमकियां दे रहे थे, वह बच गए हैं। उनका बिना किसी कार्रवाई के बच जाना दुर्भाग्यपूर्ण हैं।

उनके इस्तीफे पर नेशनल कांफ्रेंस के उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए ट्वीटर पर लिखा कि वह कांग्रेस की एक मजबूत स्तंभ थी। कांग्रेस नेतृत्व के समर्थन में हमेशा खड़ी नजर आने वाली एक निडर एडवोकेट थी।

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने प्रिंयका का साथ न देने के लिए कांग्रेस की आलोचना की आैर कहा कि अगर वह निजी लाभ के लिए अलग होती तो शायद कोई नुकसान नहीं था, लेकिन उनका यह मानना कि पार्टी उनके साथ खड़ी नहीं हुई है, उनके साथ दुर्व्यवहार करने वालों के खिलाफ कार्रवाई न करना बहुत ज्यादा दुर्भाग्यजनक है। इसी के साथ उन्होंने प्रियंका को उनके भविष्य के लिए शुभकामनाएं भी दी।

Posted By: Rahul Sharma