राज्य ब्यूरो, जम्मू : राफेल डील पर केंद्र सरकार को घेरने में जुटी कांग्रेस ने वीरवार को जम्मू में प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने राफेल डील में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार होने का आरोप लगाया। शहीदी चौक स्थिति काग्रेस मुख्यालय से प्रदर्शन करते हुए कांग्रेसी डीसी कार्यालय पहुंचे। राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा और मामले में संयुक्त संसदीय समिति के गठन की मांग की। प्रदर्शन का नेतृत्व कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष जीए मीर और दिल्ली से आए राज्यसभा सांसद संजय ¨सह ने किया। प्रदर्शनकारियों में पूर्व मंत्री रिगजिन जोरा, मूला राम, रमण भल्ला, जीएम सरूरी, प्रकाश शर्मा, जुगल किशोर शर्मा, सुमन भगत के साथ अमेठी से आई अमीता ¨सह, कांता भान, हरि ¨सह, गिरधारी लाल चलोत्रा, कृष्ण चंद्र भगत, चौधरी गारू राम व प्रो गारू राम भगत मुख्य रूप से शामिल रहे।

इससे पहले पार्टी मुख्यालय में संजय ¨सह ने संवाददाताओं को संबोधित करते कहा कि राफेल केंद्र सरकार का सबसे बड़ा डिफेंस घोटाला है। केंद्र इस मामले में देशवासियों और सुप्रीम कोर्ट को गुमराह कर रहा है। उन्होंने तर्क देते हुए कहा कि मोदी सरकार जवाब दे कि घोटाला साबित करने वाले तथ्यों को नजरअंदाज क्यों किया जा रहा है। उनके साथ इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष जीए मीर, मुख्य प्रवक्ता रविंद्र शर्मा, मूला राम, रमण भल्ला, जीएम सरूरी आदि मौजूद थे। अनिल अंबानी को पहुंचाया फायदा

सांसद संजय सिंह ने आरोप लगाया कि राफेल डील में देश को 41,205 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। अनिल अंबानी को फायदा पहुंचाया गया। तय नियमों को नजरअंदाज कर खरीदे जाने वाले विमानों की संख्या घटाई। यह सीधे सीधे धांधली है। अगर संयुक्त संसदीय समिति की जांच हो जाए तो दूध का दूध, पानी का पानी हो जाएगा। धांधली छुपाने के लिए ही संयुक्त संसदीय समिति के गठन नहीं किया जा रहा। संजय ¨सह व जीए मीर ने कहा कि कांग्रेस धांधली का पर्दाफाश करके रहेगी। यह देश की सुरक्षा का सवाल होने के साथ जनता के धन का दुरुपयोग का मामला है। उन्होंने कहा कि इस मामले में न तो कैग की रिपोर्ट आई और नहीं इस पर मल्लिकार्जुन खड़गे की अध्यक्षता वाली पब्लिक अकाउंट्स कमेटी ने ही चर्चा की है।

Posted By: Jagran