जम्मू, जागरण संवाददाता : दो दिन धूप रहने के बाद वीरवार को फिर से पश्चिमी विक्षोभ का दबाब दिखने लगा है। सुबह पहले पहर से शीतलहर का प्रकोप बढ़ गया। सुबह सात बजे के बाद शीतलहर के साथ कोहरे भी छाने लगा। इससे ठंडक और बढ़ गई, इससे विजिविल्टी भी कम रही। हालत यह थी की सुबह नौ बजे तक लोगों को हेड लाइट आन करके चलना पड़ रहा था। मैदानी क्षेत्रों पर हालत और भी खराब रही। राष्ट्रीय राजमार्ग पर दौड़ने वालली गाडियां भी कोहरे के चलते सड़कों पर रैंगती सी लग रही थी। शीतलहर के चलते न्यूनतम तापमान में बुधवार के मुकाबले कमी आई है। वहीं अधिकतम तापमान एक बार फिर सामान्य से नीचे आ गया है।

मौसम विज्ञान केंद्र श्रीनगर से मिली जानकारी अनुसार वीरवार को श्रीनगर का अधिकतम तापमान 6.0 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान -0.3 डिग्री सेल्सियस रहा। जम्मू का अधिकतम तापमान 18.7 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान 5.7 डिग्री सेल्सियस रहा। लेह का अधिकतम तापमान 2.5 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान -15.0 डिग्री सेल्सियस रहा। खराब मौसम के चलते श्रीनगर लेह राष्ट्र राजमार्ग बंद हैै। वहीं मुंगल रोड भी बंद पड़ा हुआ है। जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग एक तरफा चल रहा है।

शेर-ए-कश्मीर कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विशेषज्ञ डा. महेंद्र सिंह अनुसार लोहड़ी तक मौसम के कई रंग देखने को मिल सकते हैं। कभी धूप, कभी बादल, कभी बारिश और बर्फबारी की संभावनाएं बनती दिख रही हैं। पश्चिमी विक्षोभ का दबाव बनने लगा है। वीरवार रात सेही बारिश और बर्फबारी और बारिश के आसार बनते दिख रहे हैं। मौसम की अठखेलियों का यह सिलसिला लोहड़ी तक जारी रहेगा। 

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस