जम्मू, जेएनएन। जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर पश्चिमी विक्षोभ का दबाव बनता दिख रहा है। मौसम ने अपने मिजाज बदलना शुरू कर दिए हैं। मौसम विभाग ने भी उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में फिर से बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बारिश होने की संभावना जताई है। उनका कहना है कि यह दवाब 26 जनवरी तक बना रहेगा। मैदानी इलाकों में अभी कोहरा पड़ने का सिलसिला जारी रहेगा। वहीं जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर वाहनों की आवाजाही सुचारू रूप से जारी है। दो दिन बाद वीरवार को हाइवे खुलने के बाद ट्रैफिक विभाग फिलहाल फंसे वाहनों को ही निकाल रहा है। शुक्रवार को जम्मू से श्रीनगर के लिए वाहनों को छोड़ा जा रहा है।

जम्मू संभाग में आज सुबह पहले तो खिली धूप ने लोगों को पिछले दो दिनों की तरह राहत प्रदान की परंतु दोपहर बाद एकाएक बादल छाने के साथ ही शीतलहर का प्रकोप बढ़ गया। मैदानी इलाकों में अभी भी धुंध पड़ रही है। रात को शीतलहर और आेस के बीच तापमान अभी भी सामान्य से नीचे चल रहा है। अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी होने लगी है लेकिन न्यूनतम तापमान और शीतलहर का प्रकोप अभी भी जारी है। पूरे कश्मीर में अधिकतम तापामन सामान्य से ऊपर तो न्यूनतम तापमान सामान्य से नीचे चल रहा है। बनिहाल को छोड़ जम्मू संभाग के अधिकतर क्षेत्रों में तापामन सामान्य से हल्का ऊपर या सामान्य चल रहा है। लेकिन न्यूनतम तापामन सभी क्षेत्रों में सामान्य से नीचे ही चल रहा है।

मौसम में हुए सुधार के बाद जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग खुला हुआ है। श्रीनगर-लेह और कश्मीर को जोड़ने वाला मुंगल रोड खुलने की अभी जल्द कोई संभावना नहीं है।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस