श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को कहा कि कश्मीर में सक्रिय आतंकियों को केंद्र द्वारा घोषित एकतरफा युद्धविराम रास नहीं आ रहा है। वह इसे नुकसान पहुंचाने और भंग करने के लिए हरसंभव साजिश को अंजाम देने में जुटे हुए हैं।

आतंकी हमलों में लगातार आ रही तेजी पर रोष जताते हुए मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने ट्विटर पर लिखा रमजान युद्धविराम से वादी के लोगों ने बहुत चैन महसूस किया है। लेकिन आतंकियों ने अपनी हिंसक कार्रवाईयों को लगातार जारी रखा हुआ है।

ऐसा लगता है कि वह युद्धविराम को पूरी तरह भंग करने की साजिश में लगे हुए हैं। मैं उम्मीद करती हूं कि वह एक दिन हिंसा की व्यर्थता को जरूर समझेंगे। विदित हो कि केंद्र सरकार ने कश्मीर में लोगों को रमजान के दौरान राहत व शांति का माहौल प्रदान करने के लिए आतंकियों के खिलाफ अपने सभी अभियान स्थगित करते हुए एकतरफा युद्धविराम का एलान कर रखा है। लेकिन आतंकियों ने इस युद्धविराम को पहले ही दिन ठुकरा दिया था।

शुक्रवार से उन्होंने वादी में विभिन्न जगहों पर एक दर्जन से ज्यादा हमले किए हैं, जिनमें 30 लोग जख्मी हुए हैं। मंगलवार रात आतंकियों ने हाजिन में एक सैन्य शिविर पर भी हमला किया। कुछ दिन पहले आतंकियों ने एक ग्रामीण की उसके परिजनों के सामने ही गला रेत कर हत्या कर दी थी। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस