जागरण संवाददाता, जम्मू। दो दिन तक मौसम साफ रहने के बाद एक बार फिर पश्चिमी विक्षोभ का दबाव बनने लगा है। अगले चार दिनों तक कई स्थानों पर बारिश हो सकती है। वहीं, जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद होने से घाटी की ओर जरूरी सामान लेकर जा रहे सैकड़ों ट्रक, टैंकर व अन्य वाहन फंस गए हैं। मौसम विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक, पश्चिम विक्षोभ फिर सक्रिय हो रहा है, जिसका असर जम्मू कश्मीर, लद्दाख, गिलगित, बाल्टिस्तान क्षेत्रों में दिखेगा। 30 मार्च और दो अप्रैल को तेज हवाओं के साथ बारिश होगी। हवा की गति 40 किलोमीटर प्रति घंटा तक रह सकती है।

इस बीच, रविवार को सुबह से शाम तक धूप खिली रही, जिससे अधिकतम और न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी हुई। दोपहर में धूप काफी तेज रही। हालांकि इस साल सामान्य से अधिक बारिश और बर्फबारी के चलते ठंडक बनी हुई है। अभी कुछ दिनों तक इसी तरह का मौसम बना रहेगा। वीरवार को जम्मू का अधिकतम तापमान 26.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जबकि न्यूनतम तापमान 12.6 डिग्री सेल्सियस रहा। अलबत्ता, अभी करीब दो डिग्री सेल्सियस तापमान सामान्य से कम है। जम्मू का अधिकतम तापमान 26.3 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान 12.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। वहीं, श्रीनगर में अधिकतम तापमान 17.7 और न्यूनतम तापमान 5.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मलबे को हटाने का काम जारी, नहीं खुल पाया हाईवे इस बीच शनिवार को जिला रामबन में पड़ते डलवास क्षेत्र में पहाड़ नीचे आ जाने से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद है। मलबे को हटाने का काम शुरू कर दिया गया है, इसके बावजूद रविवार को भी हाईवे नहीं खुल पाया। जम्मू व बाहरी राज्यों से सब्जी, मुर्गे, फल व अन्य सामान लेकर घाटी की ओर जाने वाले ट्रक चालकों को हाईवे बंद होने से डर सता रहा है कि ट्रक में लदे सामान कहीं खराब न हो जाएं। वहीं, खाने का सामान नहीं मिलने से कई ट्रक चालक परेशान हैं।

ट्रक चालक अब्दुल मजीद, रशपाल सिंह, नजीर अहमद, मोहम्मद रमजान, केवल कृष्ण व इरफान का कहना था कि लॉकडाउन के चलते उन्हें खाने के लिए राशन व सब्जी नहीं मिल रही है।

ट्रैफिक डीएसपी रामबन अजय आनंद का कहना था कि डलवास क्षेत्र में पूरा पहाड़ नीचे आ जाने से सड़क मार्ग पूरी तरह खत्म हो गया है। नया मार्ग बनाने में अभी काफी दिन लग सकते हैं। हाईवे बंद होने से जिला रामबन व ऊधमपुर में विभिन्न जगहों पर सैकड़ों ट्रक, टैंकर व अन्य वाहन फंस गए हैं। 

जम्मू-कश्मीर की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस