जम्मू, जागरण संवाददाता: रामनवमी के पावन मौके पर चैत्र नवरात्र का पर्व कंजक पूजन और साख विर्सजन के साथ संपन्न हुआ।रामनवमी के इस मौके पर पूरा शहर भगवान राम के रंग में रंगा नजर अा रहा है। सुबह से ही मंदिरों में पूजा अर्चना जारी है। कोरोना के चलते भंडारों आदि का आयोजन तो नहीं हो सकता है लेकिन घरों में उत्सव का माहौल है।

सुबह लोगों ने कंजक पूजन कर जलस्त्रोतों में साख विसर्जित की। तवी नदी, नहर, दरिया चिनाब, देविका आदि नदियों पर सुबह से ही लोग साख विसर्जन करने पहुंचने लगे। लोग रामनवमी पर एक दूसरे को बधाई और शुभकामनाएं देते रहे। मंदिरों में सुबह से श्रद्धालु माता के दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं।

सुबह से ही श्रद्धालु बावे वाली माता के दरबार में पहुंचने लगे। माता कोल कंडोली, नगरोटा और आसपास के क्षेत्रों में माता के मंदिरों में श्रद्धालुओं का उत्साह देखते ही बन रहा है। रामनवमी के चलते भगवान राम के मंदिरों में भी दिन भर भजन कीर्तन और पूजा-अर्चना चलती रही। धर्मार्थ ट्रस्ट की ओर से रघुनाथ मंदिर में पूजा अर्चना की गई।मंदिरों में सुबह से ही माता के जयकारे और प्रभु राम के जयघोष घूंज रहे हैं ।

बहुत से लोग जो अष्टटमी पर कंजक पूजन करते हैं उन्होंने भी साख बुधवार रामनवमी वाले ही ही प्रवाहित की। लोगों ने अपने व्रत पूरे कर मां दुर्गा से आशीर्वाद प्राप्त किया और साख परवाहित मां से प्रार्थना की कि अगल वर्ष भी खुशियों के साथ उनके घर में स्थान ग्रहण करेंं ।सुबह से साख विसर्जन करने वालों का तांता लगा हुआ है। श्रद्धालु पूरी श्रद्धा के साथ साख विसर्जन कर रहे हैं। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप