जम्मू, राज्य ब्यूरो। केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने कहा है कि पाकिस्तान के अत्याचार से तंग आ चुके उसके कब्जे वाले जम्मू-कश्मीर के गिलगित, बाल्टिस्तान के लोग जल्द लद्दाख का हिस्सा बन जाएंगे। लेह में भाजपा की जन जागरण रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री ने कहा कि सीमा पार पाकिस्तान के खिलाफ लोगों का गुस्सा फूट रहा है। उन्होंने अनुच्छेद 370 को जम्मू कश्मीर में अलगाववाद और भ्रष्टाचार का जनक करार दिया। केंद्र शासित प्रदेश बनने जा रहे लद्दाख के लोगों के हितों का पूरी तरह से संरक्षण किए जाने की उम्मीद दे केंद्रीय मंत्री व पूर्व थलेसना अध्यक्ष जनरल वीके सिंह आज सोमवार को दिल्ली लौट गए।

लौटने से पहले लेह में केंद्रीय भूतल परिवहन राज्यमंत्री ने लेह भाजपा के नेताओं व लेह हिल काउंसिल के पदाधिकारियों को विश्वास दिलाया कि उठाए गए मुद्दों के समाधान के लिए दिल्ली से कार्रवाई की जाएगी। लद्दाख के लेह व कारगिलों जिलों में जोजिला टनल, अच्छी सड़कों के निमार्ण से विकास को तेजी दी जाएगी। केंद्रीय मंत्री ने लेह में कारगिल शहीदों के परिवारों से भेंट कर उनका हौंसला भी बढ़ाया। उन्होंने कहा कि देश शहीदों के योगदान का आभारी है, ऐसे में मोदी सरकार शहीद परिवारों के मसलों को प्राथमिकता पर हल करेगी।

केंद्रीय राज्यमंत्री ने लेह में सीमा सड़क संगठन के अतिरिक्त महानिदेशक अनिल कुमार व हिमांके के चीफ इंजीनियर ब्रिगेडियर नितिन शर्मा से बैठक की। इस दौरान लद्दाख के सीमांत क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे को मजबूत बनाने के लिए उठाए जा रहे कदमों व भावी प्रोजेक्टों के बारे में भी विस्तार से विचार विमर्श किया।

केंद्रीय मंत्री रविवार को लद्दाख के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने लेह मेंभाजपा की जन जागरण रैली को संबोधित करते हुए अनुच्छेद 370 हटने से लद्दाख को हुए वायदों पर क्षेत्र के लोगों को बधाई देने के साथ स्वार्थ की राजनीति करने वाले कश्मीर केंद्रित परिवारों को आड़े हाथ लिया था। उनका कहना था कि 370 की आड़ में जम्मू कश्मीर में कश्मीर की राजनीतिक पार्टियों ने निजी स्वार्थ की राजनीति की। उन्होंने वर्ष 1947 के बाद से पाकिस्तान से लड़े गए युद्धों में लद्दाखी सैनिकों की भूमिका की भी सराहना की थी।

उन्होंने विश्वास दिलाया कि केंद्र शासित प्रदेश बनने जा रहे लद्दाख के विकास के लिए उनके मंत्रालय की ओर से हर प्रकार का सहयोग दिया जाएगा। कश्मीर केंद्रित परिवारों को आड़े हाथ लेते हुए उन्होंने कहा कि इससे चंद परिवारों को छोड़ किसी को कोई फायदा नही हुआ। अब 370 खत्म होने के बाद लद्दाखियों को अपना विकास खुद करने का मौका मिला है। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री के साथ लद्दाख के भाजपा सांसद जामियांग त्सीरिंग नांग्याल, प्रदेश महासचिव व लद्दाख के प्रभारी युद्धवीर सेठी भी मौजूद थे।

अनुच्छेद 370 पर भाजपा के जन जागरण अभियान के तहत रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जम्मू कश्मीर में ग्राम पंचायतों को कभी अधिकार नहीं दिए गए। लद्दाख के विकास पर केंद्र सरकार अधिक ध्यान दे रही है। लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेश बन जाने से लद्दाखियों के हाथ में विकास की कमान होगी। अब लद्दाख के लोगों को कश्मीरी शासकों के मोहताज नहीं रहना पड़ेगा। कश्मीर में परिवारवाद की राजनीति हावी रही। दो तीन परिवारों को ही फायदा लद्दाख के लोगों को बहादुर करार देते हुए उन्होंने कहा कि साल 1947 से लेकर कारगिल युद्ध तक लद्दाख के लोगों ने वीरता की मिसाल कायम की है। साल के अंदर ही लद्दाख को पूरा वर्ष सड़क के जरिए देश के साथ जोड़ने के प्रबंध हो जाएंगे।

आकांक्षाएं पूरी होने वाले लद्दाख के लोगों को बधाई देते हुए जनरल वीके सिंह ने कहा कि लद्दाखियों ने वर्ष 1947 से कारगिल के युद्ध तक अपनी बहादुरी का लोहा मनवाया है। उन्होंने विश्वास दिलाया कि मोदी सरकार लेह व कारगिल के लोगों की उम्मीदों को पूरा करने के लिए हर संभव कदम उठाएगी। जोजीला टनल बनने से लद्दाख पूरे साल देश से जुड़ा रहेगा, इससे विकास को तेजी मिलेगी।

वहीं जामियांग ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि कश्मीर केंद्रित पार्टियों ने लद्दाखियों के हितों को दाव पर लगा दिया। मोदी सरकार ने क्षेत्र से सत्तर साल से जारी भेदभाव को एक झटके से समाप्त कर दिया। अब लद्दाख को विकसित प्रदेश बनाने की कार्रवाई हुई है। अनुच्छेद 370 खत्म होने से हर लद्दाखी खुश है।  लेह के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे जनरल वीके सिंह ने आज भाजपा के नेताओं से बैठक कर क्षेत्र में राजनीतिक हालात का जायजा भी लिया। वह इस बैठक करने के बाद दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप