जम्मू, जेएनएन। गणतंत्र दिवस पर पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में कई जगह गड़बड़ी फैलाने की साजिश रची। एक ओर जहां पुंछ के मेंढर सेक्टर में मनकोट इलाके में भारतीय चौकियों को निशाना बनाया गया वहीं सांबा अंतरराष्ट्रीय सीमा पर घुसपैठ की कोशिश की जिसे सतर्क भारतीय जवानों ने नाकाम बना दिया।

जिला पंछ के मेंढर सेक्टर में पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा से सटे मनकोट इलाके में स्थित भारतीय चौकियों पर सुबह 10 बजे के करीब गोलीबारी शुरू कर दी। पाक सैनिकों ने पहले तो चौकियों पर रूक-रूककर गोलियां दागी बाद में मोटार्र शेल दागना शुरू कर दिए। चौकियों में तैनात सतर्क भारतीय जवानों ने भी बिना उकसावे वाली इस गोलाबारी का मुंह तोड़ जवाब दिया। उन्होंने भी पाकिस्तानी चौकियों को निशाना बनाते हुए गोलाबारी की। जवाबी कार्रवाई से घबराकर पाकिस्तानी सैनिकों ने गोलाबारी बंद कर दी। करीब एक घंटे तक चली इस गोलाबारी में किसी तरह के जानमाल के नुकसान की सूचना नहीं है।

साल के शुरूआत से ही हो रही गोलीबारी का असर गणतंत्र दिवस पर दोनों देशों के बीच होने वाले मिठाइयों के आदान-प्रदान पर भी दिखा। इस बार पाकिस्तान ने चक्का द बाग में होने वाले इस कार्यक्रम में भाग नहीं लिया और भारतीय जवानों को मिठाइयां नहीं दी।

वहीं सांबा अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बीएसएफ के जवानों ने पाकिस्तान के घुसपैठ के प्रयास को विफल बना दिया। घुसपैठ का यह प्रयास चक्क-फकीरा पोस्ट पर किया गया। सतर्क जवानों ने घुसपैठिए को घायल कर दिया है। घायल घुसपैठिए को जिंदा पकड़कर जवानों ने उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल सांबा में लाया जहां प्राथिमक उपचार के बाद उसे जम्मू राजकीय मेडिकल कालेज अस्पताल में रैफर किया गया परंतु डाक्टरों ने उसे मृत लाया घोषित कर दिया। उसकी पहचान 22 वर्षीय फारूक पुत्र शौकत निवासी बोलियां द कोठा जिला शकरगढ़ पाकिस्तान के रूप में हुई है।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस