राज्य ब्यूरो, जम्मू : नियंत्रण रेखा पर दो दिन की शांति के बाद पाकिस्तानी सेना ने अब जम्मू जिला के अखनूर के केरी बट्टल सेक्टर में गोलाबारी की। इससे लोगों में दहशत फैल गई है। उधर, राजौरी और पुंछ जिलों में नियंत्रण रेखा पर शनिवार से शांति का माहौल है, मगर भय अवश्य बना हुआ है।

थलसेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत जम्मू से रविवार को दिल्ली लौटे थे। उसके बाद सोमवार तड़के पाकिस्तान ने अखनूर के केरी बट्टल में नियंत्रण रेखा पर गोले दागना शुरू कर दिए। तड़के तीन बजे शुरू हुई यह गोलाबारी सुबह साढ़े छह बजे तक जारी रहा। पाकिस्तानी सेना ने अखनूर में नियंत्रण रेखा से सटी अंतरराष्ट्रीय सीमा (आइबी) पर दो चौकियों को भी निशाना बनाया। परगवाल इलाके की इन चौकियों में नत्थू किलियां व संगम शामिल हैं। इनमें से एक सीमा सुरक्षा बल के पास तो दूसरी सेना के पास है। जम्मू के अखनूर में दस किलोमीटर अंतराष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा का जिम्मा सेना के पास भी है।

सोमवार सुबह पाकिस्तानी गोलाबारी का भारतीय सेना ने भी कड़ा जबाव दिया है। हालांकि सेना प्रवक्ता के अनुसार दोनों ओर से किसी के हताहत अथवा घायल होने की सूचना नहीं है।

उधर, राजौरी-पुंछ जिलों में शनिवार के बाद से पाकिस्तान की ओर से गोलाबारी नहीं की गई है। शुक्रवार रात को पुंछ में पाकिस्तानी गोलाबारी में तीन लोगों की मौत हो गई थी, जबकि छह को घायल हो गए थे। शनिवार को पाकिस्तान ने राजौरी के नौशहरा व झंगड़ में गोलाबारी की थी। आपको बता दें कि पाकिस्तान में भारतीय वायु सेना द्वारा की गई एयर स्ट्राइक के बाद 55 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन कर चुका है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस